स्टील पर फिक्स हुआ एमआईपी, चीन से इंडस्ट्री को मिलेगी राहत

भोपाल। केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने शनिवार सुबह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से उनके बंगले पर मुलाकात की है। इस दौरान दोनों दिग्गजों ने प्रदेश में स्टील और बॉक्साइड प्लांट लगाए जाने पर चर्चा की। तोमर ने बताया कि देश में अब आयातित स्टील पर मिनिमम इम्पोर्ट प्राइज(एमआईपी) शुक्रवार से लागू कर दिया गया है।
मंत्री तोमर ने मुलाकात के बाद स्पष्ट किया है कि प्रदेश समेत पूरे देश में चीन से आने वाले स्टील से भारत के स्टील उद्योग पर नकारात्मक असर नहीं पड़ेगा। स्टीलइम्पोर्टके लिए सरकार की ओर से न्यूनतम दर तय कर दी गई है। इससे कम कीमत पर चीन का स्टील भारत में नहीं आएगा। जिससे   भारत में स्टील प्लांट लगाए जाने की संभावनाएं भी बढ़ गईं हैं।
मंत्री तोमर ने सीएम शिवराज सिंह चौहान से चर्चा में कहा कि खान एवं इस्पात मंत्रालय में आने वाले सार्वजनिक उपक्रमों के साथ जिन परियोजनाओं के एम.ओ.यू. हुए हैं उनमें तेजी से कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार विभिन्न खनिजों खनन क्षेत्र बढ़ाने का प्रस्ताव केंद्र को भेज सकती है।
स्टील उद्योग को मिलेगी उड़ान
भारत में एमआईपी लागू होने से स्टील उद्योग को मजबूती मिलेगी। स्टील सेक्टर को राहत देने के लिए सरकार ने स्टील की न्यूनतम इंर्पोट कीमत यानी एमआईपी तय की है। सरकार ने 117 स्टील प्रोडक्ट के लिए 341 से 752 डॉलर प्रति टन के बीच न्यूनतम इंपोर्ट कीमत तय की है। सेमी फिनिश्ड स्टील प्रोडक्ट्स के लिए एमआईपी 341 से 362 डॉलर के बीच तय किया है। वहीं फिनिश्ड प्रोडक्ट के लिए एमआईपी 445 डॉलर से 752 डॉलर प्रति टन के बीच तय की गई है। स्टील पर एमआईपी फिलहाल 6 महीने के लिए लागू की गई हैं।

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*