बहुत दुःख होता है जब सड़क नियमों का उल्लंघन करते है लोग :सचिन तेंदुलकर

नई दिल्ली। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने रविवार को सड़क सुरक्षा अभियान लांच करते हुए कहा मैदान में बल्लेबाजी की तरह ही वाहनों के ड्राइवरों और पैदल चलने वालों के बीच साझेदारी की जरूरत है जिससे भारत की खतरनाक सड़कों को सुरक्षित किया जा सके।
तेंदुलकर ने ‘एस्टर सेफ रोड्स आई प्लेज’ अभियान लांच करते हुए इस मौके पर कहा, हम हर रोज सड़क दुर्घटनाओं में इतनी जान गंवा रहे हैं, यह काफी दुखद है। अगर आपको सड़कें सुरक्षित करनी है तो अनुशासन निहायत जरूरी है। जिस तरह से बल्लेबाज और नान स्ट्राइकर के बीच भागीदारी महत्वपूर्ण होती है, उसी तरह वाहनों के ड्राइवरों और सड़क पर पैदल चलने वालों के भी यह जरूरी है ताकि सड़कें सुरक्षित हो सकें।
तेंदुलकर ने एस्टर डीएम हेल्थकेयर के संस्थापक आजाद मूपेन के साथ इस अभियान की शुरूआत की। उन्होंने कहा, जब भी अपने देश में लोगों को सड़क नियमों का उल्लघंन करते देखता हूं तो मुझे दुख होता है। आपको दुपहिया चलाते हुए हेलमेट पहनना चाहिए। मैंने अकसर देखा है कि लोग अपने हेलमेट हाथ में लिए रहते हैं या फिर अपने स्टीयरिंग पर टांगे रखते हैं। इस आदत को बदलना चाहिए।
परिवहन मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक भारत में सड़क दुर्घटना में हर 3.7 मिनट में एक जान जाती है जिससे सालाना 12 लाख लोगों की मौत होती है और 55 लाख लोग गंभीर रूप से घायल होते हैं।

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*