MP बोर्ड की परीक्षा में जातिगत आरक्षण पर सवाल, विधानसभा में मचा बवाल

भोपाल। मध्य प्रदेश में माध्यमिक शिक्षा मंडल की 12वीं की परीक्षा में हिंदी के प्रश्नपत्र में जातिगत आरक्षण पर निबंध आने पर मंगलवार को विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ। हंगामे के चलते विधानसभा की कार्यवाही दो बार स्थगित करनी पड़ी।

परीक्षा में हिंदी के प्रश्नपत्र में परीक्षार्थियों को ‘जातिगत आरक्षण देश के लिए घातक’ विषय पर निबंध लिखने का विकल्प दिया था। इस मामले को कांग्रेस विधायक रामनिवास रावत और मुकेश नायक ने विधानसभा में उठाते हुए स्थगन प्रस्ताव के जरिए चर्चा की मांग की। इस पर कांग्रेस और भाजपा के विधायकों के बीच जमकर बहस हुई।

कांग्रेस विधायक रामनिवास रावत ने कहा कि सरकार बताए कि वह आरक्षण के पक्ष में है या नहीं। वहीं वन मंत्री गौरीशंकर शेजवार व कांग्रेस विधायक मुकेश नायक ने एक-दूसरे को ‘दलित विरोधी’ करार दिया।

मध्य प्रदेश सरकार के प्रवक्ता नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस परीक्षा में पूछे एक सवाल को आरक्षण से जोड़ रही है। पीएम और सीएम दोनों साफ़ कर चुके हैं कि जब तक बीजेपी की सरकार रहेगी आरक्षण ख़त्म किए जाने का सवाल ही पैदा नहीं होता।
ये सवाल था प्रश्नपत्र में
बोर्ड परीक्षा में 8वां सवाल निबंध का था और 5 विकल्प दिए गए थे।
1-युवा पीढ़ी पर दूरदर्शन पर पड़ता दुष्प्रभाव
2-स्वस्थ भारत, स्वच्छ भारत
3-इंटरनेट- आज की आवश्यकता
4-भ्रष्टाचार- देश की प्रगति में दीमक
5- जातिगत आरक्षण देश के लिए घातक

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*