डिस्पोजेबल बायोचिप से चलेगा एचआईवी संक्रमण का पता

न्यूयॉर्क। अमेरिकी शोधकर्ताओं ने एचआईवी संक्रमण का पता लगाने के लिए डिस्पोजेबल बायोचिप विकसित करने का दावा किया है। इससे व्हाइट ब्लड सेल्स की मात्रा का आसानी से पता लगाया जा सकता है। एचआईवी संक्रमण में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका होती है। यह उन क्षेत्रों में काफी मददगार साबित हो सकता है, जहां जांच की सुविधा उपलब्ध नहीं है।

इलेनॉय यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर राशिद बशीर ने बताया कि दुनिया भर में 3.40 करोड़ लोग एचआईवी से संक्रमित हैं। इनमें से बड़ी संख्या में लोग ऐसे इलाकों में रहते हैं जहां जांच की सुविधा उपलब्ध नहीं है। उनके मुताबिक, रक्त में सीडी-4प्लस और सीडी-8प्लस टी लिंफोसाइट (श्वेत रक्त कोशिका) की उपलब्धता महत्वपूर्ण बायोमार्कर है।

मौजूदा जांच पद्धति (साइटोमीटर फ्लो) के तहत बड़ी मात्रा में ब्लड और प्रशिक्षित लोगों की जरूरत पड़ती है। डिफ्रेंशियल इम्यूनो-कैप्चर इलेक्ट्रिकल सेल काउंटिंग तकनीक पर आधारित बायो सेंसर संक्रमण इससे आसान है। इसकी मदद से महज 10 माइक्रोलीटर ब्लड से 20 मिनट में एचआईवी संक्रमण का पता लगाया जा सकता है।

 

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*