27 को पठानकोट आएगा पाक जांच दल

नई दिल्ली। नेपाल के पोखरा शहर में भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों की द्विपक्षीय वार्ता तो हुई लेकिन इस बातचीत में पठानकोट हमला और इसकी जांच का मुद्दा ही सबसे अहम रहा। वार्ता में इस हमले की जांच के लिए पाकिस्तान सरकार की तरफ से गठित विशेष जांच दल के भारत आगमन और उसकी जांच शुरू करने की प्रक्रिया को पूरी तरह सुलझा लिया गया।

तय यह हुआ कि पाक की विशेष जांच टीम (एसआइटी) 27 मार्च को भारत आएगी और एक दिन बाद पठानकोट एयरफोर्स बेस से अपनी जांच शुरू करेगी।

पाक पीएम के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज से द्विपक्षीय वार्ता के बाद गुरुवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बताया, “संयुक्त जांच टीम के भारत आने की तिथि तय हो गई है। टीम 27 मार्च को भारत पहुंचेगी और 28 मार्च से जांच शुरू करेगी।”

उधर, गृह मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि उन्हें पाकिस्तान जांच दल की तरफ से वीजा का अभी कोई आवेदन नहीं मिला लेकिन इस बारे में कोई आपत्ति नहीं है। साथ ही सरकार के बीच इस बात पर भी आपत्ति नहीं है कि पाक टीम को पठानकोट एयरबेस जाना चाहिए या नहीं।

इस बारे में गृह मंत्रालय और विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के बीच वार्ता हो चुकी है। गृह मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि जब तक टीम घटनास्थल पर नहीं जाएगी तब तक उसकी रिपोर्ट पर हम कैसे भरोसा कर सकते हैं। रक्षा मंत्रालय को पाक टीम के एयरबेस जाने को लेकर कुछ आपत्ति थी लेकिन अब वह भी सहमत है।

अजीज ने भी सुषमा स्वराज के साथ बैठक को काफी सकारात्मक बताता। उन्होंने माना कि नवंबर-दिसंबर, 2015 में रिश्तों को सुधारने का जो सिलसिला दोनो देशों ने शुरू किया था उसे पठानकोट हमले की वजह से धक्का लगा है। लेकिन अब दोनों देश फिर से सभी मुद्दों को सुलझाने की गंभीर कोशिश कर रहे हैं।

गुरुवार को बैठक में क्या कश्मीर मुद्दे पर भी चर्चा हुई है, इसका दोनो पक्षों की तरफ से कोई साफ तौर पर जवाब नहीं आया है। स्वराज का कहना है कि कई मुद्दों पर बात हुई है जबकि सरताज के मुताबिक अन्य लंबित मुद्दों पर भी बात की है।

बहरहाल, आज दोनों देशों की इस बैठक के बाद विदेश सचिव स्तरीय बातचीत का रास्ता भी जल्द खुल सकता है। भारत व पाक ने दिसंबर, 2015 में यह फैसला किया था कि 15 जनवरी, 2016 से समग्र्र बातचीत का सिलसिला शुरू किया जाएगा।

लेकिन पठानकोट हमले के बाद इसे स्थगित कर दिया गया था। दोनो देशों के विदेश सचिव और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार लगातार संपर्क में है लेकिन समग्र्र वार्ता की दूसरी तिथि अभी तय नहीं हुई थी। सूत्रों के मुताबिक जल्द ही इस बारे में फैसला होगा।

मोदी नवंबर में जाएंगे पाकिस्तान

मोदी का पाकिस्तान जाना तो पहले ही तय था अब इसकी तारीख भी तय हो गई है। सार्क देशों की शिखर बैठक इसी साल नौ नवंबर को इस्लामाबाद में होगी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उसमें भारतीय दल की अगुवाई करेंगे। यह मोदी की पहली अधिकारिक यात्रा होगी।

सार्क बैठक में हिस्सा लेने के साथ ही मोदी की पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ के साथ द्विपक्षीय बैठक होने के भी आसार हैं। वैसे मोदी और शरीफ की एक और बैठक इस महीने के अंत यानी 31 मार्च को भी संभव है। यह बैठक वाशिंगटन में नाभिकीय सुरक्षा सम्मेलन के दौरान हो सकती है जहां दोनों नेता भाग लेने वाले हैं।

सरताज अजीज ने पोखरा (नेपाल) में स्वराज से मुलाकात के बाद इस बात की तसदीक की। अजीज ने कहा कि वाशिंगटन में औपचारिक बैठक होगी या नहीं, इसका उन्हें पता नहीं लेकिन उम्मीद है कि दोनो नेता मिलेंगे। अजीज ने सार्क शिखर बैठक में हिस्सा लेने के लिए मोदी को आधिकारिक तौर पर आमंत्रित करने संबंधी प्रपत्र स्वराज को सौंपा है।

 

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*