चीनी के निर्यात पर 25 फीसदी शुल्क का प्रस्ताव

नई दिल्ली। खाद्य मंत्रालय ने चीनी के निर्यात पर 25 प्रतिशत शुल्क लगाने का प्रस्ताव किया है, ताकि घरेलू बाजार में पर्याप्त आपूर्ति पक्की की जा सके। केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने यह जानकारी दी।

पासवान ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में चीनी का भाव बढ़ रहा है, लिहाजा कारोबारी मुनाफा कमाने के लिए चीनी का निर्यात बढ़ा सकते हैं। पासवान ने ट्वीट किया, ‘चीनी का निर्यात नियंत्रित करने के लिए मंत्रालय ने 25 प्रतिशत सीमा शुल्क लगाने का प्रस्ताव किया है। इस पहल से घरेलू बाजार में चीनी की पर्याप्त उपलब्धता पक्की होगी और कीमत नियंत्रण में रहेगी।’

ग्लोबल मार्केट में 50 फीसदी तेजी

व्यापार सूत्रों के मुताबिक चीनी निर्यात अब व्यावहारिक हो गया है क्योंकि ब्राजील से आपूर्ति बाधित होने के कारण पिछले तीन महीनों के दौरान ग्लोबल मार्केट में चीनी का भाव 50 प्रतिशत बढ़ा है। भारत में चीनी की मांग और आपूर्ति बराबर है, लिहाजा सरकार नहीं चाहती कि इसका निर्यात किया जाए।

अब तक 14 लाख टन का निर्यात

भारत ने वित्त वर्ष 2015-16 के विपणन वर्ष (अक्टूबर-सितंबर) में अब तक 14 लाख टन चीनी का निर्यात किया है। मौजूदा सत्र में घरेलू चीनी के उत्पादन में 11 प्रतिशत की गिरावट के कारण खुदरा बाजार में चीनी का भाव पिछले महीने 40 रुपए प्रति किलो का स्तर पार कर गया। दुनिया के दूसरे सबसे बड़े चीनी उत्पादक भारत में उत्पादन 2015-16 में करीब 2.5 करोड़ टन रहने का अनुमान है, जो पिछले साल 2.83 करोड़ टन था।

 

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*