बिहार में महागठबंधन की दरार बढ़ी कांग्रेस बोली बाहर हो जाए राजद

पटना। बिहार में राजद और जदयू के बीच जारी विवाद के बीच महागठबंधन के एक और घटक कांग्रेस ने कहा है कि यदि राजद को नीतीश कुमार पसंद नहीं हैं तो वह गठबंधन से बाहर हो जाए। उधर, बढ़ने पर लालू प्रसाद ने उसे विराम देने की कोशिश में मंगलवार को साफ कर दिया कि नीतीश कुमार ही महागठबंधन के नेता हैं।

कांग्रेस मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समर्थन में खुलकर सामने आई है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने दो टूक शब्दों में राजद से कहा कि उन्हें नीतीश पसंद नहीं हैं तो वे गठबंधन से बाहर जा सकते हैं। अशोक चौधरी का मानना है कि राजद के वरिष्ठ नेता खासकर रघुवंश प्रसाद सिंह नीतीश को निशाने पर रखकर बयान देते हैं। उससे सरकार की किरकिरी होती है और विपक्ष को बैठे-बिठाए मुद्दा मिल जाता है।

दरअसल, यह विवाद बाहुबली राजद नेता शहाबुद्दीन की रिहाई के बाद पार्टी नेताओं के बयान से पैदा हुआ। शहाबुद्दीन ने नीतीश को अपना नेता मानने से इनकार करते हुए उन्हें “परिस्थितिवश मुख्यमंत्री” कहा था। राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने भी शहाबुद्दीन का समर्थन किया। इस पर जदयू की ओर से तल्ख प्रतिक्रिया आई थी।

लालू प्रसाद से अपने नेताओं को काबू में रखने का आग्रह किया गया था। रघुवंश को नसीहत, शहाबुद्दीन पर चुप्पीइसी विवाद की पृष्ठभूमि में लालू ने साफ किया “महागठबंधन मजबूत बना हुआ है और उसे कोई खतरा नहीं है।”

रघुवंश के बयान पर लालू ने कहा कि उन्हें नहीं मालूम कि बार-बार मना करने पर भी वह ऐसे बयान क्यों देते हैं। वह उनसे बात करेंगे। लेकिन शहाबुद्दीन के खिलाफ कुछ नहीं बोले।शहाबुद्दीन के बयान पर लालू ने कहा कि किसी के पक्ष या विरोध में बयान देने से कोई जन नेता नहीं बन जाता। उनके बयान से सहमति के बारे में पूछे जाने लालू ने पत्रकारों से ही कह दिया कि वे उन्हें चिढ़ाए नहीं।

साफ है कि लालू न नीतीश को नाराज करना चाहते हैं और न ही शहाबुद्दीन को।नीतीश के समर्थन में कांग्रेस दूसरी ओर, महागठबंधन में शामिल उधर, मंगलवार को नीतीश कुमार इस मुद्दे पर कुछ नहीं बोले। लेकिन यह तो तय है कि अपने ऊपर हमले के बाद आने वाले दिनों में शहाबुद्दीन के प्रति उनका रुख और कड़ा रहेगा।

 

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*