अब निकट भविष्य में 6 कड़े फैसले ले सकते हैं पीएम मोदी

नई दिल्ली (ईएमएस)। आठ नवंबर 2016 को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी का फैसला लिया था तो विपक्ष को एक मुद्दा मिला था लेकिन वे उसे भुना नही पाए। वहीं भाजपा ने इसे भी अपनी सफलता की ओर मोड़ लिया। अधिकतर पार्टियों ने इसे मुद्दा बनाया, संसद की कार्यवाही नहीं चल पाई। इसके बाद उम्मीद की जा रही थी कि उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में इसका असर पड़ेगा। कांग्रेस, सपा और बसपा ने अपने प्रचार में नोटबंदी से हुई दिक्कतों को पर प्रकाश डालते हुए नजर आए। पर यूपी का फैसला बीजेपी के सपोर्ट में आए। ऐसे में मोदी सरकार नोटबंदी को अब कामयाबी के तौर पर पेश कर सकती है। अगर ये हुआ तो मोदी कुछ और कड़े और सख्त कदम उठा सकते हैं। मोदी ने नोटबंदी के बाद 50 दिन तक अपने कई भाषणों में आर्थिक और भ्रष्टाचार मुक्त प्रणाली के लिए सुधार की बात की थी। इसके लिए उन्होंने कई मौकों पर कहा था- हम यही नहीं रुकेंगे, नोटबंदी से भी कड़े फैसले लिए जाएंगे।
आगे लिए जा सकते हैं ये फैसले :
– बेनामी प्रॉपर्टी पर मोदी सरकार की पहले से नजर है। मोदी सरकार नोटबंदी की तरह बेनामी प्रॉपर्टी को लेकर सरकार बड़ा कदम उठा सकती है। कानून पहले से पास है और जल्द ही उसे लागू करने की योजना है।
सब्सिडी में कटौती की जा सकती है। मोदी कई मौकों पर जनता को सब्सिडी छोड़ने के लिए कह चुके हैं। उनकी अपील पर पिछले तीन साल में लाखों लोगों ने एलपीजी सिलेंडर पर मिलने वाली सब्सिडी छोड़ी है।
– नोटबंदी की तरह ही सरकार गोल्ड मोनेटाइजेशन स्कीम को सख्त कर सकती है।
– जीएसटी लागू होने के बाद राज्यों में महंगाई बढ़ेगी। इससे पार पाने के लिए शायद ही केंद्र सरकार कोई कदम उठाए। महंगाई बढ़ने का सबसे बड़ा कारण ये हो सकता है कि वन टैक्स पॉलिसी के लागू होने से छोटे और मध्यम कारोबारियों को नुकसान होगा।
– बैंको में सुधार के लिए कदम उठाए जा सकते है। बैंक डिफॉल्टर के खिलाफ सख्त होगी सरकार मोदी सरकार बैंकों का पैसा मारकर बैठे लोगों के खिलाफ सख्त हो सकती है। स्टेट बैंक का मर्जर इसी लिए चल रहा है। कुछ ऐसी एजेंसियां भी खुद को सामने ला रही हैं जो बैंकों से उनको मिलने वाला कर्ज खरीद सकती हैं और फिर उसे वे अपने ढंग और मनमानी तरीके से वसूलेंगी।
– नोटबंदी में गड़बड़ी करने वालों पर गाज गिर सकती है। नोटबंदी के दौरान कई प्राइवेट बैंकों ने गड़बड़ी की थी। सरकार ने उनसे सीसीटीवी फुटेज रखने के लिए कहा था। कई खातों में पैसे डाले गए थे, उनकी जांच शुरू की जा सकती है।

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*