माल्या ने मुंह फेरा तो कर्ज में डूबे मोहन बागान ने इस सुपरस्टार से मांगी मदद

कोलकाता। देश के सबसे पुराने फुटबॉल क्लब मोहन बागान ने कर्ज से उबरने के लिए बॉलीवुड के बादशाह शाह रुख खान से मदद मांगी है। 127 साल पुराने इस क्लब की आर्थिक स्थिति दिनों दिन बदतर होती जा रही है और वर्तमान में वो कर्ज में डूबा हुआ है।

क्लब के शेयरधारी विजय माल्या की ओर से कोई मदद नहीं मिलने के बाद क्लब प्रबंधन ने नई राह तलाशने का फैसला लिया है, जिसके लिए शाह रुख से मदद मांगी गई है। क्लब प्रबंधन का मानना है कि इस खराब स्थिति से उबरने के लिए उसे इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) से जुड़ना होगा, जिसके लिए बड़ी रकम की जरूरत होगी।

शाह रुख इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की कोलकाता नाइटराइडर्स टीम के सहमालिक हैं और खेलों में काफी दिलचस्पी रखते हैं। इसके साथ ही वह पश्चिम बंगाल के ब्रांड एंबेसडर भी हैं।

सूत्रों की मानें तो शाह रुख ने रजामंदी भी दे दी है। बागान की राह में सबसे बड़ी अड़चन विजय माल्या हैं। माल्या ने 1998 में क्लब के 49.99 प्रतिशत शेयर खरीदे थे। उन्होंने क्लब की देखरेख की जिम्मेदारी युनाइटेड मोहन बागान फुटबॉल टीम प्राइवेट लिमिटेड नामक कंपनी बनाकर उसे सौंपी थी।

कुछ साल तक सब कुछ अच्छा रहा, लेकिन नवंबर, 2014 में माल्या की कंपनियों की आपसी उठापटक में क्लब के अधिकार नई कंपनी डिएगो के पास चले गए, जिसे फुटबॉल में कोई दिलचस्पी नहीं है। अभी भी यदि माल्या ने शेयर हस्तांतरण से इन्कार कर दिया तो बागान पर अस्तित्व का संकट गहरा जाएगा।

मोहन बागान के महासचिव अंजन मित्रा ने कहा कि वह क्लब को उबारने के लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं। पिछले वित्त वर्ष में क्लब का घाटा बढ़कर 1.012 करोड़ तक पहुंच गया। क्लब को अपनी न्यूनतम जरूरतों को पूरा करने के लिए तीन करोड़ का कर्ज लेना पड़ा है।

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*