5 अगस्त को भी ITR फाइल नहीं कर पाए! डोंट वरी, ये है उपाय

अगर आपको ऐसा लगता है कि आप आईटीआर फाइल करने की बढ़ी हुई तारीख भी मिस कर देंगे तो फ्रिक ना करें, अभी भी एक और मौका है। हालांक‍ि इसके लिए कुछ तय शर्तें हैं जिन्‍हें पहले समझना जरूरी होगा। जो रिटर्न आखिरी तारीख के बाद फाइल किए जाएंगे उन्‍हें एक अलग कैटेगरी में रखा जाएगा और उन्‍हें बिलेटेड रिटर्न कहा जाएगा।

ये होता है बिलेटेड रिटर्न

इसे इस प्रकार समझिये। मान लीजिये कि कोई व्‍यक्ति तय तारीख तक रिटर्न जमा नहीं करा पाता है तो आयकर अधिनियम की धारा 139(4) के तहत वह बिलेटेड रिटर्न जमा कर सकता है।

ये है बिलेटेड की डेडलाइन

वैसे तो बिलेटेड रिटर्न किसी भी समय फाइल किया जा सकता है जो कि मौजूदा वर्ष से पहले होना चाहिये। अगर आप वित्‍तीय वर्ष 2016-17 के लिए रिटर्न फाइल कर रहे हैं तो इसके लिये आपको इसी वित्‍तीय वर्ष के लिए नोटिफाई किए गए रिटर्न को भरना होगा। यानी आप पिछले या अगले साल के रिटर्न को नहीं फाइल नहीं कर सकते। इस तरह से आप वित्‍तीय वर्ष 2016-17 का बिलेटेड रिटर्न 31 मार्च 2018 तक भर सकते हैं।

क्‍या बिलेटेड आईटीआर रिवाइज संभव है

इसका जवाब हां है। वित्‍तीय वर्ष 2016-17 के लिए आईटीआर को रिवाइज किया जा सकता है। बिलेटेड रिटर्न पिछले वित्‍तीय वर्ष के लिए रिवाइज नहीं किया जा सकता क्‍योंकि आयकर कानून उक्‍त वर्ष के लिए बदल गया है इसलिए यह हर साल रिवाइज नहीं होगा।

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*