बेस्‍ट बसों के कर्मचारी हड़ताल पर, मुंबई वालों की रक्षाबंधन के दिन बढ़ी मुश्किल

मुंबई। मुंबई में बेस्‍ट के करीब 36 हजार कर्मचारी अपनी मांगे ना पूरी होने के कारण सोमवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर है। रक्षाबंधन का दिन होने के कारण लाखों मुंबईकर को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बेस्ट यूनियन के अध्यक्ष की मेयर, बीएमसी कमिश्नर और उद्धव ठाकरे के साथ बैठक हुई थी। इस दौरान बेस्‍ट कर्मचारियों को समझाने की सारी कोशिशें नाकाम रहीं। यह बैठक बेनतीजा रही, जिसके बाद बेस्ट कर्मचारियों ने हड़ताल पर जाने फैसला लिया।

मुंबई की लोकल ट्रेन के बाद दूसरी सबसे बड़ी पब्लिक ट्रांसपोर्ट के कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से परिवहन सेवा पर बुरा असर पड़ेगा। वहीं आज रक्षाबंधन का त्‍योहर है। ऐसे में लोगों को काफी परेशानी हो रही है। लोगों को ऑटो रिक्‍शा और टैक्‍सी से सफर करना पड़ रहा है। लेकिन यहां भी उन्‍हें काफी मुश्किल हो रही है। एक शख्‍स ने बताया कि ऑटोवाले लोगों की मजबूरी का फायदा उठा रहे हैं और 50 रुपए की जगह 200 रुपए तक मांग रहे हैं।

बता दें कि बेस्ट के कर्मचारियों की मुख्य दो मांगे हैं जिनमें, बेस्ट को बीएमसी पूरी तरह से अंडरटेक कर ले और 3 महीने से बकाया सैलरी कर्मचारियों को दी जाना शामिल है। इसके अलावा यूनियन चाहती है कि प्राइवेस बसों को किराए पर लेने की रोक लगाई जाए। बेस्ट यूनियन का आरोप है कि पिछली मीटिंग में बेस्ट के कमिश्नर ने उन्हें आश्वासन दिया था कि हर महीने की 10 तारीख को उन्हें सैलरी मिल जायेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

गौरतलब है कि बेस्ट परिवहन विभाग पिछले कई सालों से घाटे में चल रहा है। इस कारण कर्मचारियों को उनका वेतन भी तय समय पर नहीं मिल रहा है। बेस्ट को बचाने के लिए परिवहन विभाग की ओर से 1000 करोड़ रुपए की सहायता राशि देने की मांग की गई थी। साथ ही बेस्ट को घाटे से उबारने के लिए बेस्ट और बीएमसी बजट एक साथ पेश किए जाने की मांग लंबे समय से की जा रही है।

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*