‘पद्मावती’ के बारे आखिरकार बोल ही दिए आमिर खान

संजय लीला भंसाली की ‘पद्मावती’ को लेकर चल रहे विवाद के दौरान कई प्रतिक्रियाएं आई हैं लेकिन आमिर खान ने अब तक इस मामले में कुछ नहीं बोला था। अब उन्होंने इस मामले में हिंसा के रास्ते को गलत ठहराया है।

पीटीआई की ख़बर के मुताबिक आमिर का कहना है कि हर किसी को विरोध करने का अधिकार है लेकिन हिंसा इसका तरीका नहीं होना चाहिए। आमिर ने पद्मावती विवाद पर सीधे कमेंट न करते हुए बस इतना ही कहा है कि हिंसा इसका रास्ता नही है।

आमिर कहते हैं, ”मुझे लगता है कि, सबको विरोध करने का अधिकार है। लेकिन यह सोचकर देखें कि डेमोक्रेसी और वो देश, जिस पर हम विश्वास करते हैं, मुझे नहीं लगता कि कोई भी यहां लोगों को नुकसान पहुंचता है। यह दुर्भाग्य है। फिल्म में अहम किरदार निभा रही दीपिका पादुकोण और निर्देशक संजय लीला भंसाली को मिली मारने की धमकी को लेकर आमिर ने आगे कहा कि, इस बात से कोई वास्ता नहीं है कि आप फिल्म पर्सन हैं या नहीं, या फिर आप डॉक्टर है, इंजीनियर है, गवर्नमेंट सर्वेंट है, पर यह फिजिकली नुकसान पहुंचाने वाली बात दुर्भाग्य है। मैं ऐसे विचारों को नहीं मानता। जब भी एेसा होता है तो ये बातें हम पर गलत असर डालती हैं। आमिर ने आगे यह भी कहा कि, एेसी धमकियों को सिर्फ फिल्म से जुड़े लोगों तक सीमित न रखें। एक भारतीय होने के नाते यह मुझे उदास करती हैं। चाहे फिल्म पर्सन हो या फिर कोई और। कानून के नियम सबके लिए है और कानून से कोई ऊपर नहीं है। कोई भी कानून को अपने हाथ में नहीं ले सकता।”

आमिर ने ये भी कहा कि इस विवाद पर ज्यादातर बॉलीवुड सेलेब्स चुप रहे हैं, सिर्फ सलमान खान, शबाना आज़मी, जावेद अख़्तर, अनुराग कश्यप, हंसल मेहता और आनंद एल राय उन कुछ लोगों में से हैं, जिन्होंने अपनी बात रखी है। आपको बता दें कि, फिल्म पद्मावती में रानी पद्मिनी के गलत चित्रण को लेकर विवाद इतना बढ़ गया था कि मेकर्स ने फिल्म की रिलीज़ को अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया। पहले ‘पद्मावती’ 1 दिसंबर को रिलीज़ होने वाली थी लेकिन अभी तक रिलीज़ को लेकर कुछ भी पुख्ता ख़बर सामने नहीं आई है। ऐसा कहा जा रहा है कि फरवरी में फिल्म की रिलीज़ की कोशिश की जा रही है।

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*