2G स्पेक्ट्रम घोटाला केस में सभी आरोपी बरी, कांग्रेस ने साधा भाजपा पर निशाना

नई दिल्ली। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने 1.76 लाख करोड़ के 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले के मामले में बड़ा फैसला सुनाते हुए मामले में ए राजा और कनिमाझी समेत सभी आरोपियों को बरी कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि आरोप लगाने वाला पक्ष अपने आरोपों को साबित करने में असफल रहा। इसके साथ ही 6 साल पुराने इस बड़े घोटाले में आरोपी बनाए गए सभी लोग बरी हो गए हैं।

इसके बाद अब कांग्रेस भाजपा पर लगातार हमले बोल रही है। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि यह पूरा षडयंत्र भाजपा का था और इससे देश को नुकसान पहुंचा है।

कोर्ट के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि फैसले का सम्मान होना चाहिए। मुझे खुशी है कि कोर्ट ने फैसला सुनाया, यूपीए सरकार के खिलाफ बिना किसी आधार के प्रोपगैंडा फैलाया जा रहा था।

#WATCH: Former PM Manmohan Singh says, ‘the court judgement has to be respected. I’m glad that the court has pronounced that the massive propaganda against UPA was without any foundation.’ #2GScamVerdict pic.twitter.com/9WAhwjekph

— ANI (@ANI) 21 December 2017

फैसले के बाद खुशी जताते हुए कनिमोझी ने कहा कि मैं उन सभी लोगों को धन्यवाद देती हूं जो इस दौरान मेरे साथ खड़े रहे।

फैसले के बाद इस पर प्रतिक्रिया देते हुए तत्कालीन टेलीकॉम केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा कि जीरो लॉस वाली मेरी बात सही साबित हुई। मुझ पर जिन लोगों ने आरोप लगाए वो मांफी मांगे।

Aaj meri baat siddh ho gayi, koi corruption nahi, koi loss nahi. Agar scam hai to jhooth ka scam hai, vipaksh aur Vinod Rai ke jhooth ka. Vinod Rai ko desh ke saamne maafi maangni chahiye: Kapil Sibal,Congress #2Gverdict pic.twitter.com/nHTCTyiziC

— ANI (@ANI) 21 December 2017

वहीं पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि सरकार में उच्चस्थ पदों पर बैठे लोगों पर घोटाले के आरोप कभी सही नहीं थे और यह साबित हो गया।

बता दें कि यह घोटाले का पहला मामला है जिसकी जांच सीबीआई को सौंपी गई थी। इस मामले में ए राजा को 2011 में गिरफ्तार करने के बाद जेल भेजा गया था।

इस मामले में ए राजा और कनिमोई के अलावा रिलायंस अनिल धीरूभाई अंबानी समूह (एडीएजी), यूनिटेक लिमिटेड, डीबी रीयल्टी व अन्य पर आरोप थे। मामले में अंतिम सुनवाई 19 अप्रैल को हुई थी जिसके बाद अदालत ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।

फैसले के चलते ए राजा और कनिमोई के घर के बाहर हलचल बढ़ गई।

सीबीआई द्वारा पहला आरोप-पत्र दाखिल किए जाने के बाद 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले की सुनवाई छह साल पहले शुरू हुई थी। इससे संबंधित सभी मामलों की सुनवाई विशेष न्यायाधीश ओपी सैनी कर रहे हैं।

कोर्ट ने तीन मामलों की सुनवाई की है जिसमें पहले मामले में ए राजा के अलावा कनिमोई,अंबानी समूह के एडीएजी, यूनिटेक समेत कई अन्य आरोपी हैं। 2011 में इस मामले में सीबीआई ने पहली गिरफ्तारी की थी।

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*