INDvsSA: विराट कोहली के निशाने पर कपिल देव का रिकॉर्ड

भारतीय कप्तान विराट कोहली के लिए वर्ष 2017 जबर्दस्त सफलता वाला रहा। कोहली इसी फॉर्म को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 5 जनवरी से केपटाउन में शुरू होने वाली तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में जारी रखना चाहेंगे।

कोहली ने पिछले साल क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में कई कीर्तिमान ध्वस्त किए। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज में भी कई कीर्तिमान ‍उनके निशाने पर होंगे, इनमें एक प्रमुख रिकॉर्ड कपिल देव का रहेगा। कपिल देव ने 34 टेस्ट मैचों में भारत का नेतृत्व किया था, जबकि विराट अभी तक 32 टेस्ट मैचों में टीम इंडिया की कमान संभाल चुके हैं।

विराट ने इस सीरीज के तीनों मैचों में टीम की कमान संभाली तो वे कपिल का रिकॉर्ड ध्वस्त कर देंगे। विराट के पास जोहान्सबर्ग में 24 से 28 जनवरी तक होने वाले तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में कप्तानी संभालते ही इस रिकॉर्ड को ध्वस्त करने का मौका रहेगा।

विराट 32 मैचों में कप्तानी कर भारत की तरफ से सबसे ज्यादा टेस्ट मैचों में कप्तानी करने के मामले में छठे क्रम पर हैं। इस सूची में महेंद्रसिंह धोनी 60 मैचों के साथ पहले और सौरव गांगुली 49 मैचों के साथ दूसरे क्रम पर हैं।

विराट इतने कम मैचों में टीम की कमान संभालने के बावजूद भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तानों की सूची में तीसरे क्रम पर हैं। विराट के नेतृत्व में टीम ने 32 मैचों में से 20 में जीत दर्ज की जबकि 3 में उसे हार मिली और 9 टेस्ट ड्रॉ रहे। इस सूची में धोनी 27 जीत और गांगुली 21 जीत के साथ क्रमश: पहले और दूसरे स्थान पर हैं।

सबसे ज्यादा टेस्ट मैचों में भारत के कप्तान (शीर्ष 6)

1- महेंद्रसिंह धोनी 60 (27 जीत, 18 हार, 15 ड्रॉ)

2- सौरव गांगुली 49 (21 जीत, 13 हार, 15 ड्रॉ)

3- मोहम्मद अजहरूद्दीन 47 (14 जीत, 14 हार, 19 ड्रॉ)

3- सुनील गावस्कर 47 (9 जीत, 8 हार, 30 ड्रॉ)

4- मंसूर अली खान पटौदी 40 (9 जीत, 19 हार, 12 ड्रॉ)

5- कपिल देव 34 (4 जीत, 7 हार, 22 ड्रॉ, 1 टाई)

6- विराट कोहली 32 (20 जीत, 3 हार, 9 ड्रॉ)

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*