आज पद्मावत होगी रिलीज, 4 राज्यों में नहीं दिखेगी फिल्म

नई दिल्ली। विवादों में घिरी संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत आज सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही है लेकिन भाजपा शासित 4 राज्यों में इसे नहीं दिखाया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट की हरी झंडी और पूरे देश में फिल्म रिलीज करने के आदेश के बावजूद उग्र विरोध को देखते हुए मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने मप्र, राजस्थान, गुजरात व गोवा में फिल्म का प्रदर्शन नहीं करने का फैसला किया है। इस संगठन से देश के करीब 75 फीसदी मल्टीप्लेक्स मालिक जुड़े हैं।

उधर करणी सेना ने किसी कीमत पर फिल्म का प्रदर्शन नहीं होने देने व फिल्म का प्रदर्शन करने वाले सिनेमाघरों में “जनता कर्फ्यू” लगाने का एलान किया है।

दिल्ली में एक दिन पहले ही गुपचुप रिलीज हुई

देशभर में चौतरफा विरोध के बीच फिल्म पद्मावत दिल्ली के सिनेमाघरों में एक दिन पहले बुधवार को ही गुपचुप रिलीज हो गई। विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए इसका प्रचार-प्रसार नहीं किया गया।

चित्तौड़ में जौहर की धमकी

चित्तौड़गढ़ करणी सेना के प्रमुख गोविंद सिंह खांगरोट व उपाध्यक्ष कमलेंदू सिंह को मंगलवार रात गिरफ्तार कर लिया गया। जिला इकाई के प्रवक्ता ने धमकी दी थी कि 1900 महिलाएं पद्मावत के विरोध में जौहर को तैयार हैं। कुछ महिलाओं ने चित्तौड़ के किले में घुसने की कोशिश की।

हरियाणा के कई शहरों में 144

हरियाणा में राज्य में फिल्म को लेकर अघोषित बैन जैसे हालात हैं। करणी सेना की धमकी के कारण 80 फीसदी थियेटर मालिकों ने पद्मावत को नहीं दिखाने का फैसला किया है। शांति बनाए रखने के लिए प्रशासन ने हिसार, कुरुक्षेत्र, सिरसा, गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल सहित कई शहरों में धारा 144 लगाई है।

गुरुग्राम में स्कूल बस पर पथराव

फिल्म के खिलाफ सबसे ज्यादा गुस्सा गुरुग्राम और फरीदाबाद में दिखा। गुरुग्राम में फिल्म का विरोध कर रहे कुछ लोगों ने दिल्ली-अरावली हाइवे पर भोड़सी गांव के पास एक स्कूल बस पर पथराव कर दिया। पथराव से चार बच्चे घायल हो गए। इसी रोड पर प्रदर्शनकारियों ने एक बस को आग भी लगा दी।

भीलवाड़ा, सीकर, जोधपुर में प्रदर्शन

राजस्थान के किसी भी शहर में फिल्म रिलीज नहीं हो रही है, फिर भी उग्र विरोध जारी है। बुधवार को दिल्ली-मुंबई हाईवे पर जयपुर के नजदीक जाम लगा दिया है। यहां करणी सेना व अन्य राजपूत संगठनों के लोग लाठी-डंडे दिए हाईवे पर खड़े हो गए और जगह-जगह टायर जला दिए। बाद में पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को खदेड दिया। भीलवाड़ा, गंगापुर, सीकर, जोधपुर सहित कई शहरों में प्रदर्शन हुए।

गिरफ्तारियों और गोलियां से झुकेंगे नहीं : कालवी

श्री राजपूत करणी सेना के प्रमुख लोकेंद्र सिंह कालवी ने हिंसा के लिए पद्मावत के निर्माता संजय लीला भंसाली को जिम्मेदार बताया। उन्होंने कहा, “हिंसा के लिए मुझे खेद है, लेकिन यह सिर्फ रानी पद्मावती के प्रति है, जिन्होंने आत्म-सम्मान की रक्षा के लिए 16 हजार रानियों के साथ जौहर किया था। हमें भले गिरफ्तार कर लें और गोलियां चलाएं लेकिन इससे हम रुकेंगे नहीं।

रोमांटिक सीन पर आपत्ति

कालवी ने कहा कि सेंसर बोर्ड के न्योते पर जिन लोगों ने यह फिल्म देखी है, उन्होंने बताया कि “पद्मावत” में अलाउद्दीन खिलजी व रानी पद्मावती के स्वप्नों के दृश्य हैं। हम चाहते हैं कि फिल्म में दोनों के ऐसे दृश्य और रोमांटिक सीन नहीं हों।”

करणी सेना में मतभेद

फिल्म के विरोध को लेकर करणी सेना में मतभेद भी सामने आने लगे हैं। मंगलवार की रात अहमदाबाद में हुई हिंसा के बाद गुजरात सरकार ने भी अलग-अलग राजपूत ग्रुपों के साथ बैठक की। इसमें करणी सेना गुजरात के प्रदेश अध्यक्ष राज शेखावत ने गुरुवार के भारत बंद को समर्थन नहीं देने की घोषणा की।

दीपिका की नाक काटने पर इनाम

कानपुर क्षत्रिय महासभा ने पद्मावत की अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की नाक काट कर लाने पर इनाम की घोषणा की है। महासभा के अध्यक्ष गजेंद्र सिंह राजावत ने कहा कि हमने कानपुर के लोगों से करोड़ों रुपए एकत्रित किए हैं। ये उस व्यक्ति को दिए जाएंगे जो दीपिका की नाक काट कर लाएगा।

कहां कितनी गिरफ्तारी

-अहमदाबाद में पुलिस ने 50 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया है।

-मुंबई में करणी सेना के 50 से ज्यादा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है। नासिक पुलिस ने भी करणी सेना के 20 कार्यकर्ताओं को यहां हिरासत में ले लिया।

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*