पेट्रोल-डीजल महंगा, सेस की बढ़ोतरी से और बढ़ेंगे दाम

पेट्रोल-डीजल के दामों में देशव्यापी बढ़ोत्तरी से ईंधन छह महीनों के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है। इंदौर में बुधवार को डीजल 66 रुपए 39 पैसे जबकि पेट्रोल 77.53 रुपए प्रति लीटर बिका। मप्र में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में अभी और इजाफा होगा। राज्य सरकार द्वारा थोपा गया अतिरिक्त उपकर इस कीमत में शामिल नहीं है। बजट से पहले ही इस बढ़ोत्तरी की भी उम्मीद की जा रही है।

बीते करीब दस दिनों से ईंधन के दामों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। इंदौर पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेंद्रसिंह वासु के मुताबिक, डीजल के दाम 15 जनवरी को 64 रुपए 68 पैसे प्रति लीटर थे, 24 जनवरी को 66 रुपए 39 पैसे हो गए। छह महीनों में डीजल का यह उच्चतम स्तर है। पेट्रोल 77.53 पैसे पहुंच चुका है। इसके शीर्ष स्तर छूने में महज 40-50 पैसे की कमी है। खास बात यह है कि कीमतों में हुई इस बढ़ोतरी के लिए वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल के दाम बढ़ने को जिम्मेदार बताया जा रहा है। यानी इस वृद्धि में अभी प्रदेश स्तर पर लागू हुआ उपकर यानी सेस शामिल नहीं हुआ है।

50 पैसे नहीं एक प्रतिशत

बीते दिनों ही प्रदेश सरकार ने ईंधन पर 50 पैसे प्रति लीटर उपकर यानी सेस लगाने का निर्णय लिया था। अब साफ हो रहा है कि ईंधन पर लगने वाला सेस 50 पैसे प्रति लीटर न लगकर प्रतिशत के अनुपात में लागू होगा। ऐसे कीमतों में 70 पैसे से 1 रुपए तक की ओर बढ़ोतरी की आशंका जताई जा रही है।

कर सलाहकार आरएस गोयल के मुताबिक ईंधन पर पहली बार प्रदेश में सेस लगाया गया है। इस बारे में अध्यादेश जारी हो चुका है लेकिन नोटिफिकेशन आना बाकी है। अध्यादेश के मुताबिक टैक्सेबल टर्नओवर का एक प्रतिशत सेस लागू होना है। उम्मीद की जा रही है कि बजट के पहले ही इस बारे में नोटिफिकेशन जारी हो जाएगा। नोटिफिकेशन के जारी होते ही ईंधन की कीमतें और बढ़ जाएंगी।

एक्साइज में राहत की उम्मीद

प्रदेश सरकार ने तो वैट हटाकर सेस लगा दिया। अब हम केंद्र से उम्मीद कर रहे हैं कि बजट में एक्साइज कटौती कर राहत देगा। – राजेंद्रसिंह वासु, अध्यक्ष इंदौर पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*