INDvsSA: पांचवा वनडे आज, पोर्ट एलिजाबेथ में जीते तो मुठ्ठी में होगी सीरीज

पोर्ट एलिजाबेथ। दक्षिण अफ्रीका में भारत इतिहास रचने से बस एक कदम दूर है। अगर पोर्ट एलिजाबेथ में आज होने वाले पांचवे वनडे में टीम इंडिया जीत दर्ज करती है तो वो इस मैदान पर हार का रिकॉर्ड बदल देगी बल्कि अफ्रीकी जमीन पर पहली वनडे सीरीज जीतने का कारनामा भी कर देगी।

टीम इंडिया ने पहले तीन वनडे में जिस अंदाज में क्रिकेट खेला है। उससे उम्मीद बंधी है, ये अलग बात है कि बारिश से बाधित चौथे वऩडे में जरुर भारत को हार का सामना करना पड़ा। मगर उस मुकाबले में भी पलड़ा टीम इंडिया का ही भारी था। ऐसे में अगर पोर्ट एलिजाबेथ में मौसम खलल नहीं पैदा करता है, तो टीम इंडिया यहां नया इतिहास रच सकती है।

ऐसे जीते पहले तीन वनडे-

भारतीय टीम ने डरबन में पहला मैच छह विकेट से, वहीं सेंचुरियन में दूसरा मैच नौ विकेट से और तीसरा मैच केपटाउन में 124 रन से जीता था। लेकिन, मेजबान टीम ने बारिश से प्रभावित चौथे पिंक वनडे में पांच विकेट से जीत हासिल कर वापसी की थी।

यहां ऐसा रहा है रिकॉर्ड-

पिछले कुछ सालों में दक्षिण अफ्रीका में भारत का रिकॉर्ड खराब रहा है, लेकिन विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम इसे बदल सकती है। साल 2013-14 के दौरान हुई वनडे सीरीज में भारत को दक्षिण अफ्रीका के हाथों 0-2 से हार झेलनी पड़ी थी। 2010-11 में हुई सीरीज में मेहमान टीम ने दक्षिण अफ्रीका को कड़ी टक्कर दी थी, लेकिन भारतीय टीम 2-3 से सीरीज हार गई।

रोहित का फॉर्म बढ़ा रहा टीम की परेशानी-

भारत की सबसे बड़ी परेशानी ओपनर रोहित शर्मा का फॉर्म है। शुरुआती चार मैचों में उनके बल्ले से महज 40 रन ही निकले हैं। खास बात यह है कि रोहित सबसे ज्यादा साउथ अफ्रीकी पेसर कागिसो रबाडा के आगे खुद को असहज महसूस कर रहे हैं। रबाडा ने अभी तक इस टूर में रोहित को 6 बार पविलियन भेजा है। पांचवें वनडे में टीम मैनेजमेंट रोहित की बजाए अजिंक्य रहाणे से भी ओपन करा सकती है।

फायदा उठाना चाहेगा दक्षिण अफ्रीका-

कोहली (393) और शिखर धवन (271) ने मिलकर बाकी बचे बल्लेबाजों (239) द्वारा मिलकर बनाए गए रनों से करीब तीन गुना रन बनाए हैं। यह निश्चित रूप से भारतीय थिंक टैंक के लिए चिंता की बात होगा। इस बात की अनदेखी नहीं की जा सकती कि दक्षिण अफ्रीका भारतीय लाइन की कमजोरी का फायदा उठाकर कोहली और धवन को सस्ते में पवेलियन भेजना चाहेगा।

इस प्रकार हैं टीमें –

भारत : विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, दिनेश कार्तिक, केदार जाधव, महेंद्र सिंह धौनी (विकेटकीपर), हार्दिक पांड्या, युजवेंद्रा सिंह चहल, कुलदीप यादव, अक्षर पटेल, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, मुहम्मद शमी, शार्दुल ठाकुर।

दक्षिण अफ्रीका : एडेन मार्करैम (कप्तान), हाशिम अमला, जेपी डुमिनी, इमरान ताहिर, डेविड मिलर, मोर्नी मोर्केल, क्रिस मॉरिस, लुंगी नगीदी, एंदिल फेलुक्वायो, कैगिसो रबादा, तबरेज शम्सी, खायेलिहले जोंडो, फरहान बेहरदीन, हेनरिक क्लासेन (विकेटकीपर), एबी डिविलियर्स ।

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*