पंजीकृत असंगठित श्रमिकों को 13 जून से मिलेंगें हितलाभ : मुख्यमंत्री श्री चौहान

गंजबसौदा में 23106 तेंदूपत्ता संग्राहकों को .2.62 करोड़ रू. बोनस का वितरण

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज गंजबसौदा में कहा कि सरकार द्वारा असंगठित श्रमिकों को समाज मे सम्मान पूर्वक जीवन यापन करने का अधिकार देने के लिये हर संभव प्रयास किये जा रहें हैं। मुख्यमंत्री जन-कल्याण योजना के तहत हर गरीब, हर मजदूर को जमीन का पट्टा दिया जायेगा। वर्ष 2023 तक मध्यप्रदेश में रहने वाले हर गरीब व्यक्ति को सरकार पक्का मकान बनाकर देगी। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार गरीबी दूर करने के संकल्प को जल्द से जल्द पूरा करने की ओर अग्रसर है। असंगठित मजदूरों को 13 जून से लाभ वितरण प्रारंभ कर दिया जाएगा। इस हेतु प्रदेश के हर विकासखण्ड में जनप्रतिनिधियों की मौजूदगी में हितलाभ वितरण कार्यक्रम किए जाएंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने असंगठित मजदूर कल्याण योजना के तहत श्रमिकों को पंजीयन कार्ड, आवास हेतु पट्टों का वितरण तथा तेंदूपत्ता संग्राहकों को बोनस राशि, चरण पादुका योजना के तहत महिलाओं को चप्पलें, पुरूषो को जूतें, पानी की बोतल एवं सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत अन्य हितग्राहियों को भी लाभ वितरित किये।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री जन-कल्याण योजना की जानकारी देते हुए कहा कि प्रदेश का हर वह व्यक्ति जो आयकरदाता नहीं है, 2.5 एकड़ से कम भूमि का मालिक है और शासकीय सेवा में नहीं हैं, वह सभी इस योजना के दायरे में आएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के हर मजदूर बंधु को आवास हेतु भूमि और उनको पक्का मकान बनाकर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि मजदूर महिलाओं को प्रसूति से पूर्व और पश्चात् कैलोरीयुक्त आहार हेतु आर्थिक सहायता का लाभ दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि गरीब बच्चों की कक्षा 1 से कॉलेज तक की पढ़ाई और उच्च शिक्षा संस्थान में भर्ती होने पर उसकी फीस भी सरकार भरेगी। मजदूरों के बच्चों को मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना का लाभ भी मिलेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गरीब व मजदूर का सरकार निःशुल्क इलाज कराएगी। आयुष्मान भारत योजना, राज्य बीमारी सहायता कोष, मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान मद से गरीब को इलाज हेतु सहायता दी जाएगी। उन्होंने कहा कि गरीबों को 2 सौ रू. माह की दर से फलैट रेट पर बिजली दी जाएगी। स्वसहायता समूहों को दीगर काम धंधों से जोड़ा जाएगा। उन्हें सरकार बैंक लिंकेज देगी, साथ ही इनके कौशल विकास का काम भी किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने गरीबों के हित में सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि किसी गरीब व्यक्ति की 60 साल से कम उम्र में सामान्य मृत्यु होने पर उसके परिवार को 2 लाख रू., दुर्घटना मृत्यु पर 4 लाख रू. और अंतिम संस्कार के लिए 5 हजार रू. दिए जाएंगे।

केन्द्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री श्री थावर चंद गहलोत ने कहा कि देश में दस लाख दिव्यांग जनों को सहायक उपकरण वितरित किये गये है। इस पर लगभग 600 करोड रू. व्यय किये गये है। बासौदा में 4600लोगों को श्रवण यंत्र,ट्राइसिकल, डेंचर, व अन्य उपकरण दिव्यांग जनों को वितरित किये गये हैं। श्री गहलोत ने कहा कि दिव्यांग जनों के कल्याण के लिये केन्द्र सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश सरकार पूर्ण सहयोग कर रही है।

इसके मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 34 करोड़ 13 लाख रू. की लागत से लटेरी में निर्मित पॉलीटेक्निक भवन का लोकार्पण किया । इसके अलावा उन्होने ग्रामीण विकास विभाग द्वारा 92.42 करोड़ रू की लागत से बनाई जाने वाली आठ सड़कों का भूमिपूजन व शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस अवसर पर 23,106 तेन्दूपत्ता श्रमिकों के खातों में वर्ष 2016 की बोनस राशि के रूप में 2 करोड़ 62 लाख रू. की राशि ई-ट्रांसफर की। उन्होंने विदिशा जिले के 4600 दिव्यांगो को जीवन सहायक उपकरण भी वितरित किये।

कार्यक्रम में विदिशा जिले के प्रभारी मंत्री तथा प्रदेश के गृहमंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह, खाध्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री श्री सूर्य प्रकाश मीणा, विधायक श्री वीर सिंह पंवार, विधायक श्री कल्याण सिंह, लघु वनोपज संघ के अध्यक्ष श्री महेश कोरी, असंगठित कर्मकार कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष श्री सुल्तान सिंह शेखावत, बड़ी संख्या में असंगठित क्षेत्रों में कार्य कर रहे श्रमिक व तेन्दूपत्ता बोनस के हितग्राही उपस्थित थे।

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*