सड़क दुर्घटना में बड़े काम का हो सकता है एयरबैग हेलमेट

नई दिल्ली। रोड सेफ्टी के जितने तरीके हो सकते हैं आपको अपनाना ही चाहिए। आप अगर टू-व्हीलर पर हों तो हेलमेट जरूरी हो ही जाता है। दुर्घटना के समय ये हेलमेट आपके वरदान साबित होता है। तभी तो सरकार हेलमेट पहनने के लिए जागरूक करती है, जरूरत पड़ने पर इसे न पहनने के लिए फाइन भी रखती है ताकि किसी भी कीमत पर लोग हेलमेट पहनें। फिर भी लोग हेलमेट पहनने से कतराते हैं। इसे एक बोझ मानते हैं और इसे कैरी करना टेंशन समझते हैं। अब ऐसे लोगों के लिए एक खास तरह का एयरबैग हैलमेट बहुत काम का हो सकता है जो कि दुर्घटना के समय खुल जाता है और आपकी रक्षा करता है। हालांकि इसे फिलहाल साइकिल चलाने वालों के लिए ही बनाया गया है।

जिस तरह से कार का एयरबैग दुर्घटना के समय खुल जाता है और बचाव करता है। वैसे ही यह एयरबैग जैसे एक विशेष हेलमेट है जो कि वास्तव में एक स्वीडिश होवडिंग डिवाइस है। दुर्घटना होने पर यह यह डिवाइस किसी तकिया की तरह फूलकर आपके गले और सिर को पूरी तरह ढक लेता है। हवा की अधिकतम मात्रा न होने पर भी यह एयरबैग आपकी सुरक्षा कर सकता है।

किसी सामान्य हेलमेट की तुलना में यह एयरबैग हेलमेट कहीं मोटा और मुलायम है। वहीं इस हेलमेट एयरबैग में किसी दुर्घटना की आशंका को बहुत बेहतर तरीके से पहचानने की क्षमता है।

खास बात यह भी है कि साइकिल चलाते समय किसी सामान्य हेलमेट की तरह इसे घर से पहनकर नहीं निकलना होगा। बल्कि इस डिवाइस को कॉलर की तरह सिर्फ गले में डालकर चलना है।

किसी दुर्घटना के समय यह खुद खुल जाता है और आपके सिर को बचाने के लिए ढक लेता है। यह हेलमेट साइकिल सेफ्टी को देखकर डिजाइन किया गया है।

रिकॉर्ड करता है मूवमेंट्स

इस एयरबैग हेलमेट की एक खास बात यह भी है कि यह आपकी हर मूवमेंट को प्रति सेकंड में 200 बार रिकॉर्ड करता है। इसका मतलब यह हुआ कि किसी परेशानी में होने पर यह एयरबैग आपसे पहले भांप लेता है और तुरंत हेलमेट में तब्दील होकर आपकी सेफ्टी करता है।

एयरबैग में एक सेंसर एल्गोरिदम लगा होता है जो कि दुर्घटना की पहचान करते हैं। कैरी करने में यह एयरबैग इतना आसान है कि रोजाना की राइडिंग में इसे आसानी से गले में डालकर चल सकते हैं। बिल्कुल वैसे, जैसे आप बाइक या स्कूटर पर जाते वक्त हेलमेट पहनते हैं।

बात जब साइकिल की आती है, तो फिलहाल लोग प्लास्टिक कवर या पॉलिस्टर फोन के हेलमेट ही इस्तेमाल करते हैं। वजन में हल्का होने के कारण लोग इन्हें प्राथमिकता देते हैं, लेकिन सुरक्षा की दृष्टि से देखा जाए, तो यह बहुत अधिक प्रभावी नहीं है। ऐसे में इन्हें पहनने के बाद भी एक्सीडेंट होने पर आपको सिर की चोट लगने की आशंका रहती ही है। लेकिन, इस मामले में यह एयरबैग हेलमेट काफी असरकारक है। यह काफी मोटा और मुलायम है। इसकी सफलता के साथ उम्मीद कर सकते हैं कि बाइक और स्कूटर के लिए भी ऐसा एयरबैग हेलमेट लॉन्च हो सकता है।

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*