कर्नाटक: फ्लोर टेस्ट से पहले बोले परमेश्वर- नहीं टूटेंगे हमारे MLAs, EVM पर जताया शक

नई दिल्ली/बेंगलुरु
कांग्रेस नेता और कर्नाटक के नवनियुक्त उप मुख्यमंत्री जी. परमेश्वर ने बीजेपी पर कर्नाटक विधानसभा चुनाव में ईवीएम से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने कई सीटों पर ईवीएम से छेड़छाड़ की जिसके कारण कई सीटों पर मजबूत पकड़ के बाद भी कांग्रेस को हार झेलनी पड़ी. साथ ही उन्होंने कहा कि हम शुक्रवार को होने वाले फ्लोर टेस्ट में पूर्ण बहुमत से पास होंगे.

उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि मुझे उपमुख्यमंत्री का पद इसलिए मिला क्योंकि मैं दलित हूं. यह एक महज संयोग है कि मैं दलित हूं.’ उन्होंने कहा, ‘हमारे कुछ नेताओं ने और खुद मैंने भी यह महसूस किया कि बीजेपी ने ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की है. कर्नाटक में कांग्रेस को कई ऐसी सीटों पर हार का सामना करना पड़ा जहां पार्टी की पकड़ मजबूत थी. हम चुनाव आयोग में इसकी शिकायत करेंगे. साथ ही हमारा आग्रह है कि बैलेट पेपर से ही चुनाव कराया जाए.’

नहीं टूटेंगे हमारे विधायक, फ्लोर टेस्ट में होंगे पास: परमेश्वर

परमेश्वर ने कहा कि हमारी सीटों की संख्या कम रही लेकिन वोट प्रतिशत बीजेपी से ज्यादा रही. यह दर्शाता है कि कांग्रेस की कर्नाटक में अभी भी मजबूत पकड़ है और हम वापसी करेंगे. हमने जेडीएस के साथ अच्छी सरकार देने के मकसद से गठबंधन किया है.

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कुमारस्वामी पहले ही कह चुके हैं कि हम मिलकर काम करेंगे. बीजेपी को सत्ता से दूर रखने के लिए हम इस गठबंधन को नहीं टूटने देंगे. क्योंकि पिछली बीजेपी सरकार भ्रष्टाचार युक्त रही है. उन्होंने कहा कि हमने पांच साल तक चलने वाली स्थिर सरकार दी. साथ ही उन्होंने कहा कि समाज के सभी वर्गों का उत्थान होना चाहिए.

उन्होंने कहा कि गठबंधन में शामिल दोनों पार्टियों के अलग-अलग लक्ष्य हैं. हम उन मुद्दों पर फोकस करेंगे जो दोनों पार्टियों के लिए महत्वपूर्ण हों. कैबिनेट में किसे क्या मिलेगा इसका फैसला शुक्रवार को होने वाले फ्लोर टेस्ट के बाद होगा. हमें पूरा भरोसा है कि हम फ्लोर टेस्ट में पूर्ण बहुमत से पास होंगे, हमारे विधायक नहीं टूटेंगे.

परमेश्वर ने बताया कि कांग्रेस और जेडीएस की सर्वसम्मति से रमेश कुमार को विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए अपना उम्मीदवार चुना है. सिद्धारमैया ने, ‘मुझे पता चला है कि भाजपा ने भी नामांकन दाखिल किया है. मुझे उम्मीद है कि वे नामांकन वापस ले लेंगे. अगर चुनाव होता है तो रमेश कुमार की जीत सुनिश्चित है.’

विधानसभा अध्यक्ष के तौर पर रमेश कुमार के कार्यकाल (1994 से 1999 तक) का जिक्र करते हुए सिद्धारमैया ने कहा कि उन्हें अच्छे पीठासीन अधिकारी के रूप में जाना जाता है और उन्होंने तब सुचारू रूप से सदन की कार्यवाही चलाई थी. बता दें कि विपक्षी भाजपा ने वरिष्ठ नेता एस. सुरेश कुमार को कर्नाटक विधानसभा में अध्यक्ष पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाया है. विधानसभाध्यक्ष का चुनाव कल होगा.

भाजपा उम्मीदवार बोले मैं ही जीतूंगा

सुरेश कुमार ने कहा कि भाजपा की राज्य इकाई के प्रमुख बी. एस. येदियुरप्पा के और अन्य नेताओं के निर्देश पर उन्होंने नामांकन पत्र दाखिल किया है. उन्होंने कहा, ‘संख्या बल और कई अन्य कारकों के आधार पर हमारी पार्टी के नेताओं को विश्वास है कि मैं जीतूंगा. इसी विश्वास के साथ मैंने नामांकन दाखिल किया है.’ यह पूछने पर कि भाजपा के केवल 104 विधायक हैं तो ऐसे में उनके जीतने की संभावना क्या है, सुरेश कुमार ने कहा, ‘मैंने नामांकन पत्र दाखिल कर दिया है. कल दोपहर सवा बारह बजे चुनाव है. चुनाव के बाद आपको परिणाम पता चल जाएगा.’


Source: khabar1

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*