दो और नंबर सामने आए, पाकिस्तानी ID का इस्तेमाल

लखनऊ 
यूपी में विधायकों को वॉट्सऐप मेसेज और विडियो कॉल के जरिए धमकी देने के मामले में दो और नए नंबर सामने आए हैं। एटीएस और एसटीएफ की टीमें अब इन दोनों नंबरों के बारे में पड़ताल में जुट गई है। तीनों नंबर में एक बात कॉमन है कि ये कनाडा की एक कंपनी से लिए गए वर्चुअल नंबर हैं। चूंकि सेवा प्रदाता कंपनी विदेश की है, इसलिए एजेंसियों को असली अपराधी तक पहुंचने में मुश्किल आ रही है। इसके लिए केंद्रीय एजेंसियों से संपर्क किया गया है।  
जो दो नए नंबर सामने आए हैं, उनमें एक नंबर +1(909)4062077 है। नंबरों को ट्रेस न किया जा सके, इसके लिए पहले वर्चुअल नंबर लिया गया। फिर उस पर वॉट्सऐप चलाने के लिए उसे कम्प्यूटर के वेब इंटरफेस से जोड़कर वीपीएन (वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क) इनेबल किया गया। एटीएस और एसटीएफ के लिए वीपीएन को ट्रेस करना ही मुश्किल हो रहा है। एजेंसियां लगातार वॉट्सऐप, वर्चुअल नंबर उपलब्ध करवाने वाली कंपनी और केंद्रीय एजेंसियों के संपर्क में हैं। 

पाकिस्तान की 2014 की आईडी 
वर्चुअल नंबर लेने के लिए जो तीन अलग-अलग आईडी इस्तेमाल की गई हैं, उनमें से एक पाकिस्तान की साल 2014 की है। आईपी अड्रेस का इस्तेमाल कौन और कहां से कर रहा है, इसकी जानकारी संबंधित देश की इंटरनेट प्रदाता कंपनी से ही मिल सकती है, लेकिन उनसे सहयोग नहीं मिल पा रहा है। डीआईजी कानून एवं व्यवस्था प्रवीण कुमार का कहना है कि अभी तक की पड़ताल में यह किसी टेक सेवी की शरारत लग रही है। कई अहम सुराग मिले हैं। जल्द असली अपराधी तक पहुंचने में कामयाबी मिलेगी। 

सुरेश श्रीवास्तव से मिले एसएसपी 
बीजेपी विधायकों को धमकी देने के मामले में एसएसपी दीपक कुमार ने गुरुवार को राजाजीपुरम में विधायक सुरेश श्रीवास्तव के आवास पर उनसे मुलाकात की। उन्होंने विधायक को सुरक्षा का भरोसा दिया और आरोपित को जल्द पकड़ने का भी दावा किया है। 


Source: khabar1

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*