मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा-मेरा टिकट भी संगठन ही तय करेगा

रायपुर
 विधानसभा चुनाव को अब केवल पांच महीने रह गए हैं। ऐसे में प्रत्याशी चयन को लेकर सभी दलों में हलचल तेज होने लगी हैं। भाजपा, कांग्रेस समेत अन्य दलों में हर सीट के प्रत्याशियों के कयास लगने लगे हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि टिकट तय करना संगठन का काम है। उनका टिकट भी संगठन ही तय करेगा। इस पर कांग्रेस ने तंज कसते हुए कहा है कि भाजपा में संगठन नहीं, बल्कि कुछ नेताओं की चौकड़ी टिकट तय करती है।

बुधवार को विकास यात्रा में लवन जाने से पहले मुख्यमंत्री ने टिकट वितरण में फेरबदल की संभावना पर कहा कि ये उनका काम नहीं है। उनका काम तो विकास करना है। टिकट तय करने का काम संगठन का है। संगठन वाले क्या तय करेंगे, कुछ पता नहीं। उन्हें भी टिकट मिलता है या नहीं, ये भी संगठन तय करेगा।

इस पर कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी का कहना है कि मुख्यमंत्री पूरी तरह से गलत बयानबाजी कर रहे हैं। भाजपा संगठन की हालत किसी से छिपी नहीं है। रमन सिंह का मुख्यमंत्री बनना, अभिषेक सिंह को सांसद का टिकट मिलना, सरोज पांडेय को टिकट मिलना, ये सब संगठन नहीं, चौकड़ी का फैसला है। भाजपा की इसी चौकड़ी ने नंदकुमार साय को मरवाही से चुनाव हराया था। भाजपा संगठन इतना प्रभावी होता तो मधुसूदन यादव की टिकट नहीं कटती।

खासकर तब जब, राजनांदगांव लोकसभा क्षेत्र में आने वाले कवर्धा विधानसभा की सभा में 2013 के विधानसभा चुनाव के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा में वंशवाद नहीं होने देने की कसम खाई थीा। त्रिवेदी का कहना है कि मुख्यमंत्री का कथन इसलिए भी गलत है, क्योंकि अगर संगठन टिकट तय करता तो भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक का राज्यसभा चुनाव में टिकट न कटा होता और सरोज पांडे को टिकट नहीं मिला होता।


Source: SAMACHARTODAY

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*