मुंबई में खत्म हो गई सोशल सर्विस ब्रांच की अहमियत, कल्‍पना बार के छापे से बदली तस्‍वीर

मुंबई 
कभी मुंबई के डांस बार मालिक पुलिस की सोशल सर्विस ब्रांच से डरते थे। डांस बारों में रेड डालने का काम सोशल सर्विस ब्रांच ही करती थी। अब इस ब्रांच की अहमियत धीरे-धीरे खत्म हो रही है। इसका ताजा उदाहरण है, पिछले सप्ताह ग्रांट रोड के कल्पना बार में पड़ी छापेमारी। यह रेड सोशल सर्विस ब्रांच की तरफ से नहीं, बल्कि ऐंटि नार्कोटिक्स सेल के डीसीपी शिवदीप लांडे की तरफ से डाली गई। यहां एक गुप्त तहखाने से कई लड़कियां बाहर निकाली गईं थीं।  

हालांकि सोशल सर्विस ब्रांच क्राइम ब्रांच के अंडर में आती है, लेकिन क्राइम ब्रांच के आला अधिकारी डांस बार में रेड के लिए अपनी दूसरी विशेष ब्रांच से ज्यादा कार्रवाई करवा रहे हैं। क्राइम ब्रांच के अंडर में ही ऐंटि नार्कोटिक्स सेल आता है। इसके अलावा क्राइम ब्रांच के पास डिटेक्शन के भी दो डीसीपी हैं, जिनके अंडर में डेढ़ दर्जन से भी ज्यादा यूनिट्स काम करती हैं। क्राइम ब्रांच में डीसीपी एनफोर्समेंट भी हैं, जिसके अंडर में ही सोशल सर्विस ब्रांच आती है, साथ ही जापू ब्रांच भी। 

सोशल सर्विस ब्रांच के इस तरह से पर कतर दिए गए हैं, कि स्टाफ के नाम पर यहां एक सीनियर पीआई और एक महिला एपीआई के अलावा मुश्किल से दो-तीन सिपाही हैं। इसीलिए यदि एनफोर्समेंट के डीसीपी किसी (डांस) बार में रेड डालने जाते हैं, तो उन्हें जापू ब्रांच से कर्मचारी उधार लेने पड़ते हैं। इधर क्राइम ब्रांच के डिटेक्शन के दोनों डीसीपी की यूनिट्स ने भी ‘ऊपर’ के आदेश पर कई डांस बारों में छापेमारी की है। 

मुंबई में रोज रात में किसी एक डीसीपी की भी ड्यूटी रहती है। उसे अधिकार होता है कि नाइट पेट्रोलिंग के दौरान वह किसी भी बार में रेड डाल सकता है। शिवदीप लांडे ने पिछले सप्ताह कल्पना बार में जब रेड डाली, तो वह नाइट पेट्रोलिंग में थे। एक टॉप रैंक के अधिकारी ने एनबीटी से कहा कि अमूमन किसी एक जोन का डीसीपी दूसरे जोन में रेड नहीं डालता, क्योंकि उस जोन का डीसीपी नाराज हो जाता है। ऐसे में नाराज डीसीपी मौका मिलते ही उसके जोन में रेड डालने वाले डीसीपी के इलाके में रेड डलवाने लगता है। इसलिए पुलिस कमिश्नर दत्तात्रय पडसलगीकर ने क्राइम ब्रांच के अलग-अलग डीसीपी को मुंबई के अलग-अलग जोन में छापेमारी की आजादी दी हुई। 


Source: SAMACHARTODAY

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*