सेहतमंद रहेंगे बाल तो हमेशा दिखेंगे स्टाइलिश

स्टीम स्ट्रेटनर के भीतर थोड़ा पानी भरने की सुविधा होती है। इसलिए इसके इस्तेमाल से बालों की स्वाभाविक चमक बरकरार रहती है।

स्ट्रेटनिंग और कर्लिंग के ज़रिये बालों को नए स्टाइल देना बहुत आसान हो जाता है पर ऐसे तरीकों का अधिक इस्तेमाल बालों के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। ऐसा करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए, आइए जानते हैं सखी के साथ।

हीटहेयरस्टाइलिंग
जकल बालों को संवारते समय हीट स्टाइलिंग का बहुत ज्य़ादा इस्तेमाल किया जाता है। इसकी मदद से बहुत कम समय में उन्हें मनचाहा लुक दिया जा सकता है। इसीलिए आजकल कॉलेज गोइंग स्टूडेंट्स से लेकर मिडिलएज होममेकर तक हर आयु वर्ग की युवतियां इसे अपना रही हैं।

क्या है हीट स्टाइलिंग
जैसा कि इसके नाम से ही ज़ाहिर है, जब बालों की स्टाइलिंग के लिए रोलर, कर्लर, स्ट्रेटनर या ब्लो ड्रायर का इस्तेमाल किया जाता है तो उसे हीट स्टाइलिंग कहा जाता है। इससे आप न केवल मिनटों में मनचाहा हेयर स्टाइल पा सकती हैं, बल्कि इससे आपके चेहरे का पूरा लुक बदल जाता है। इसीलिए हेयर स्टाइलिंग का यह तरीका काफी पॉपुलर हो रहा है लेकिन ज्य़ादातर स्त्रियों को अकसर यही शिकायत रहती है कि इससे उनके बार रूखे और कमज़ोर हो जाते हैं। यह बात कुछ हद तक सच भी है। इसीलिए अगर आप अकसर हीट स्टाइलिंग का इस्तेमाल करती हैं तो आपको अपने बालों की देखभाल में अतिरिक्त सजगता बरतनी चाहिए।

स्पेशल हेयर केयर
अगर आप सप्ताह में एक बार भी हीट स्टाइलिंग करती हैं तो इन बातों को अपने हेयर केयर रेजीम का ज़रूरी हिस्सा बना लें।

नरिशिंग : शैंपू के बाद नियमित रूप से कंडीशनर का इस्तेमाल करें। गीले बालों को उलझने से बचाने के लिए हमेशा बड़े दांतों वाली कंघी का इस्तेमाल करें। रात को सोने से पहले सप्ताह में एक बार अपने बालों पर आयरन फिनिश क्रीम या लोशन लगाएं।   

केराटिन स्पा : बालों पर स्ट्रेटनर या ड्रायर के अधिक इस्तेमाल से उनमें मौज़ूद आवश्यक तत्व केराटिन तेज़ी से नष्ट होने लगता है। इसलिए हर तीन महीने के अंतराल पर किसी अच्छे सलॉन में जाकर केराटिन स्पा ज़रूर लें।

ट्रिमिंग : हर चार महीने के अंतराल पर अपने बालों की ट्रिमिंग अवश्य कराएं।     

कर्ली हेयर प्रोटेक्शन : कर्लिंग के बाद हेयर स्टाइल को देर तक टिकाए रखने के लिए हेयर मूस का इस्तेमाल अच्छा रिज़ल्ट देता है और बालों को डैमेज होने से भी बचाता है।      

स्टीम स्ट्रेटनिंग : स्टीम स्ट्रेटनर के भीतर थोड़ा पानी भरने की सुविधा होती है। इसलिए इसके इस्तेमाल से बालों की स्वाभाविक चमक बरकरार रहती है।   

अगर इन छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखा जाए तो हीट स्टाइलिंग के बावज़ूद आपके बाल स्वस्थ और सुंदर बने रहेंगे।


Source: SAMACHARTODAY

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*