मंगल में चल रही धूल भरी आंधी, NASA के अंतरिक्ष यान ने कैद की तस्वीरें

नई दिल्ली
मंगल ग्रह का अध्ययन कर रहे नासा के अंतरिक्ष यान ‘क्यूरियोसिटी रोवर’ ने अपने कैमरे में एक दिलचस्प घटना कैद की है। ‘क्यूरियोसिटी रोवर’ ने मंगल ग्रह पर धूल भरी आंधी चलने की तस्वीरें कैद की हैं। नासा ने मीडिया जानकारी दी है कि यह धूल भरी आंधी का गुबार पिछले दो सप्ताह से मंगल के बड़े हिस्से पर छाया हुआ है। मंगल पर देखा गया तूफान इतना चिंताजनक है कि अमेरिका अंतरिक्ष एजेंसी नासा मंगल ग्रह के अध्ययन को लेकर चल रहे सभी रिसर्च कार्य स्थगित करने का फैसला किया है।

हालांकि मंगल की सतह का अध्ययन कर रहे यान ‘क्यूरियोसिटी रोवर’ को इस धूल भरे तूफान से कोई खतरा नजर नहीं आ रहा। चूंकि ‘क्यूरियोसिटी रोवर’ के ज्यादातर कार्य सौर्य ऊर्जा पर निर्भर हैं और धूल का गुबार ऊपर छाया हुआ है ऐसे में ‘क्यूरियोसिटी रोवर’ को ऑन रखने के लिए उसमें लगी न्यूक्लियर पॉवर बैट्री दिन रात चल रही है। वैज्ञानिकों ने बताया कि यह धूल का गुबार लगातार अपना दायरा बढ़ाता जा रहा है। मंगल में धूल के गुबार के बढ़ने की घटना को वैज्ञानिकों ने ‘ग्रह को घेरने वाला’ (planet-encircling) डस्ट इवेंट नाम दिया है।

हालांकि मंगल ग्रह में दूसरे ओर ‘क्यूरियोसिटी रोवर’ चालू है, इसके ऊपर धूल बढ़ती जा रही है। सप्ताह के अंत यह धूल दोगुनी हो सकती है। यान के आस पास ऐसा माहौल बन गया है जिसमें उसे सूर्य का प्रकाश नहीं मिल पा रहा। सूर्य की रोशनी रोकने वाली इस घटना को ‘ताउ (tau)’ नाम दिया जो अभी गेल क्रेटर (खाईं) से 8.0 की ऊंचाई पर है। नासा के मंगल मिशन में यह अब तक का सबसे ऊंचा ‘ताउ’ रिकॉर्ड किया गया है। अब वैज्ञानिकों की टीम उत्सुकता से देख रही है कि आगे क्या होने वाला है। वहीं ‘क्यूरियोसिटी रोवर’ का एक हिस्सा सक्रिय है कि जिससे कई वैज्ञानिकों को कई सवालों के जवाब मिल सकते हैं।

मंगल की कक्षा पर एक स्पेसएयरक्राफ्ट के साथ मौजूद ‘क्यूरियोसिटी रोवर’ पहली बार मंगल में चल रही धूल भरी आंधी के बार में वैज्ञानिकों को समझने में मदद करेगा। इस यंत्र की मदद से मंगल की सतह और ऊपरी हिस्से की धूल के बारे में जानकारी मिलेगी। इससे पहले 2007 में मंगल ग्रह पर धूल भरा तूफान आया था जो पूरे ग्रह को घेर लिया था। ‘क्यूरियोसिटी रोवर’ पांच साल पहले मंगल पर उतरा था। ‘क्यूरियोसिटी रोवर’ जब से मंगल पर गया रोजाना वहां की तस्वीरें भेज रहा है।


Source: NEWS

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*