‘चांद-सितारों वाले झंडे भारत में हाे बैन’, रिजवी की इस याचिका पर SC ने केंद्र से मांगा जवाब

लखनऊ
चांद-सितारों वाले झंडे भारत में हाे बैन हो शिया वक्फ बोर्ड के चैयरमेन वसीम रिजवी की इस याचिका पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से जवाब मांगा है। साथ ही कोर्ट ने ये जवाब 2 हफ्ते में दाखिल करने के आदेश दिए हैं।

बता दें कि रिजवी ने अपनी याचिका में कहा है कि चांद सितारों वाले हरे रंग के झंडे की शुरूआत एक राजनीतिक दल ऑल इंडिया मुस्लिम लीग द्वारा की गई। इस पार्टी की स्थापना नवाज वकार उल-मलिक और मोहम्मद अली जिन्ना ने 1906 में ढाका में की थी। उन्होंने कहा कि इस समय भारतीय मुसलमानों द्वारा इस झंडे का इस्तेमाल एक इस्लामिक झंडे के रूप में किया जाता है। उन्होंने हरे रंग के चांद-सितारों वाले झंडे को पूरे भारत में बैन करने की मांग की।

सुप्रीम कोर्ट ने रिजवी की इस याचिका को स्वीकार कर लिया है। रिजवी ने यह याचिका 17 अप्रैल को दाखिल की थी। रिजवी का कहना है कि ये झंडे पाकिस्तान के राष्ट्रीय ध्वज से मिलते जुलते हैं। कुछ मौलवियों ने गलत तरीके से इस झंडे को इस्लाम से जोड़ दिया है, जबकि इनका इस्लाम से कोई लेनादेना नहीं है। 


Source: NEWS

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*