अब चैट के साथ-साथ “Uplive” ऐप के जरिए करें भरपूर कमाई

 

इंटरनेट और स्मार्टफोन के इस जमाने में दुनिया काफी बदल चुकी है। गूगल प्ले स्टोर पर एक से बढ़कर एक ऐप हैं, जिससे यूजर्स अपने कई सारे काम को बड़ी आसानी से चुटकी में कर सकते हैं। इतना ही नहीं अब तो कुछ ऐसे भी ऐप्स आ गए हैं जिनसे यूजर्स की कमाई भी हो जाती है। ऐसा ही एक मोबाइल ऐप है "अपलाइव"। 'अपलाइव' अपने यूजर्स को अपनी आर्ट, स्किल व चैट का सीधा प्रसारण यानि लाइव स्ट्रीमिंग कर उससे आय प्राप्त करने का विकल्प देता है, इसलिए लोग इसे पसंद कर रहे हैं।

मोबाइल एप

भारत में महज कुछ ही महीनों में इसके 50 लाख यूजर्स हो चुके हैं। 'अपलाइव' के सह-संस्थापक ओयांग यून ने कहा कि हांगकांग से सफर की शुरुआत करने के बाद अब पूरी दुनिया को 'मोबाइल इंटरेक्टिव इंटरटेनमेंट' का जायका परोसने वाले लाइव स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म 'अपलाइव' को भारत में लोग काफी पसंद कर रहे हैं।

अपलाइव के संस्थापक ने कहा-

यून ने बातचीत के दौरान अपने प्लेटफॉर्म के बारे में बताया कि 'अपलाइव' एशिया इनोवेशन ग्रुप (एआईजी) की एक शाखा है, जो अपने यूजर को मोबाइल इंटरेक्टिव इंटरटेनमेंट कंटेंट मुहैया करवाता है। यून ए.आई.जी. के प्रेसिडेंट हैं।

उन्होंने कहा कि 'अपलाइव' एक मोबाइल एप है जिसे गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है और इस पर रियल टाइम में लाइव वीडियो देखा जा सकता है या प्रसारित किया जा सकता है। उन्होंने कहा, खास बात यह है कि कलाकार अपनी कला का लाइव प्रसारण कर इस पर कमाई भी कर सकते हैं।

लाइक, शेयर करने पर पेमेंट

उनके वीडियो को लाइक करने व शेयर करने पर उनको उसके लिए भुगतान भी किया जाता है। उन्होंने बताया कि अपलाइव ब्लॉकचेन प्रोटोकॉल के द्वारा अपने यूजर को कंटेंट क्रिएटर को वर्चुअल गिफ्ट प्रदान करने की सुविधा देता है जिसे रुपयों से बदला जा सकता है उन्होंने बताया कि 'अपलाइव' का मुख्यालय हांगकांग में है और दुनियाभर में इसके 14 कार्यालय हैं।

100 देशों में हैं यूजर्स

यून ने बताया कि अपलाइव 2016 में हांगकांग में लांच हुआ था और वर्तमान में दुनिया के 100 देशों में इसने अपनी पहुंच बना ली है। उन्होंने बताया कि उनके प्लेटफॉर्म पर दुनियाभर में छह करोड़ यूजर हो गए हैं और हर महीने करीब पांच लाख यूजर जुड़ने लगे हैं। उन्होंने कहा कि इस एप्लीकेशन में फिलहाल 16 भाषाओं की सुविधा उपलब्ध है जिनमें अंग्रेजी, हिंदी, चीनी, फ्रेंच, स्पेनिश, पुर्तगाली, थाई समेत अन्य देशों की भाषाएं शामिल हैं।

भारत एक बड़ा बाजार: संस्थापक

उन्होंने कहा कि भारत चीन की तरह ही बड़ा बाजार है। पिछले कुछ महीनों से यहां रोजाना एक लाख लोग इससे अब जुड़ने लगे हैं। भारत में अपलाइव के मार्के टिंग प्रमुख रवीश जैन ने कहा हम अपने साथ ऐसे स्ट्रीमर को जोड़ना चाहते हैं जो बेहतरीन गुणवत्ता वाला कंटेंट दे सकें। चाहे वह भारतीय संगीत हो, टॉक शो हो या फिर कुछ और। हर किसी के पास बताने के लिए कोई न कोई कहानी है।

जैन ने कहा, हमारा मानना है कि अपनी कहानी बताने के लिए लाइव स्ट्रीमिंग से बेहतर और आसान कोई माध्यम नहीं है। यह प्लेटफॉर्म अपने आप में ही इंटरेक्टिव, एंगेजिंग एवं आसानी से एक्सेसिबल है।

उन्होंने कहा 'अपलाइव' को पूरी दुनिया में बेहतरीन मोनेटाइजेशन मॉडल के लिए जाना जाता है जोकि स्ट्रीमर को अपने रिवेन्यू का हिस्सेदार बनाता है। उन्होंने कहा कि यह रिवेन्यू उन स्ट्रीमर को मिलता है जो अपलाइव के साथ कॉन्ट्रैक्ट साइन कर चुके हैं। जैन ने बताया कि अपलाइव स्ट्रीमर 500 डॉलर तक की कमाई कर रहा है।

Source: खेल

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*