पंचायत ने ₹80 हजार लगाई गैंगरेप की कीमत!

अलीगढ़
उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां के एक गांव की पंचायत ने नाबालिग के साथ हुए गैंगरेप में रुपयों से सौदा कराने का प्रयास किया। पंचायत ने कहा कि पीड़िता का परिवार 80,000 रुपये लेकर मामला रफा-दफा कर दे। हालांकि, पीड़िता के भाई को पंचायत का फरमान मंजूर नहीं हुआ और उसने चार आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई।

पुलिस ने बताया कि 14 साल की बच्ची को चारों आरोपी सुनसान इलाके में खींचकर ले गए। वहां उन्होंने बच्ची के साथ दरिंदगी की। चूंकि बच्ची के माता-पिता की मृत्यु हो चुकी है इसलिए उसने जाकर अपनी चाची को घटना बताई। चाची ने गुरुवार की सुबह बच्ची के भाई को जानकारी दी।

पंचायत ने बनाया दबाव
पेशे से मजदूर नाबालिग के भाई ने बताया, 'मेरी बहन से मामला जुड़ा था इसलिए मैं गांव के हर व्यक्ति के पास मदद मांगने गया। गुरुवार को पूरा दिन मदद मांगने में निकल गया। शुक्रवार की शाम को गांव में पंचायत बुलाई गई। पंचायत के लोगों ने मेरे ऊपर दबाव बनाया कि मैं 80,000 रुपये लेकर आरोपियों से समझौता कर लूं और उनके खिलाफ कोई कार्रवाई न करूं।'

बच्ची के भाई ने बताया, 'मुझे पंचायत का फैसला मंजूर नहीं हुआ। जब मैंने रुपये लेकर समझौता करने से इनकार कर दिया तो पंचायत ने मुझे गांव के बाहर जाने पर पाबंदी लगा दी। मैं बाहर निकलकर थाने में शिकायत करना चाहता था। शनिवार को पूरा दिन काफी प्रयास के बाद मैं देर रात किसी तरह गांव से निकलने में कामयाब रहा। मैं सीधे थाने पहुंचा और एफआईआर दर्ज कराई।'

नाबालिग के भाई की ओर से दी गई तहरीर के आधार पर पुलिस ने गांव के चेतन (24), लाखन (30), ललित कुमार (22) और विकास (24) के खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं और पॉक्सो ऐक्ट में केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने बताया कि तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि एक आरोपी चेतन अभी फरार है। उसे गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी चल रही है।

Source: खेल

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*