दुर्ग ग्रामीण: कांग्रेस के गढ़ पर BJP का कब्जा, महिलाओं के बीच जंग

नई दिल्ली
छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले की दुर्ग ग्रामीण विधानसभा सीट प्रदेश की चर्चित सीटों में गिनी जाती है. मौजूदा समय में बीजेपी के रमशीला साहू विधायक हैं और रमन सरकार में मंत्री भी हैं. हालांकि एक दौर में ये कांग्रेस का सबसे मजबूत गढ़ माना जाता रहा है. यही वजह है कि बीजेपी के इस कब्जे वाली विधानसभा सीट पर कांग्रेस वापसी की कोशिश में है. दुर्ग ग्रामीण विधानसभा सीट मोतीलाल वोरा, प्यारेलाल बेलचंदन और वासुदेव चंद्राकर जैसे दिग्गज नेताओं की सियासी जमीन रही है. लेकिन वक्त के साथ इस सीट की सियासी तस्वीर भी बदलती चली गई. मौजूदा समय में बीजेपी का इस सीट पर कब्जा है.

2013 के चुनाव नतीजे
बीजेपी के रमशीला साहू  को 50327 वोट मिले थे.
कांग्रेस के परमिता चंद्राकर  को 47348 वोट मिले थे.

2008 के चुनावी परिणाम
कांग्रेस के परमिता चंद्राकर  को 49710 वोट मिले थे.
बीजेपी के प्रीतपाल बेलचंदन को 48153 वोट मिले थे.

दुर्ग ग्रामीण विधानसभा सीट को सियासी नजरिए से तो चमकती दिखाई देती, लेकिन विकास से कोसो दूर खड़ा है. शिक्षा से लेकर स्वास्थ्य सेवा की हालत काफी खराब है.

छत्तीसगढ़ के समीकरण
आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में कुल 90 विधानसभा सीटें हैं. राज्य में अभी कुल 11 लोकसभा और 5 राज्यसभा की सीटें हैं. छत्तीसगढ़ में कुल 27 जिले हैं. राज्य में कुल 51 सीटें सामान्य, 10 सीटें एससी और 29 सीटें एसटी के लिए आरक्षित हैं.

2013 में रमन सिंह हैट्रिक
2013 में विधानसभा चुनाव के नतीजे 8 दिसंबर को घोषित किए गए थे. इनमें बीजेपी ने राज्य में लगातार तीसरी बार कांग्रेस को मात देकर सरकार बनाई थी. रमन सिंह की अगुवाई में बीजेपी को 2013 में कुल 49 विधानसभा सीटों पर जीत मिली थी. जबकि कांग्रेस सिर्फ 39 सीटें ही जीत पाई थी. जबकि 2 सीटें अन्य के नाम गई थीं. 2008 के मुकाबले बीजेपी को तीन सीटें कम मिली थीं, इसके बावजूद उन्होंने पूर्ण बहुमत से अपनी सरकार बनाई. रमन सिंह 2003 से राज्य के मुख्यमंत्री हैं.
 

Source: खेल

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*