वाराणसी में बच्चों को मोदी की सीख- जब डर लगे तो राम का नाम लेना

वाराणसी        
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने 68वें जन्मदिन के मौके पर सोमवार को अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी पहुंचे और स्कूल में बच्चों से मुलाकात करके उन्हें जीवन में सफलता के मंत्र दिए. वाराणसी के दो दिवसीय दौरे पर शाम को पहुंचे प्रधानमंत्री ने नरउर स्थित प्राइमरी स्कूल में बच्चों से मुलाकात की और उनसे विभिन्न मामलों पर बात की.

इस दौरान उन्होंने बच्चों से कहा कि वे निडर बनें और सवाल पूछने में कभी ना घबराएं. डर दूर करने के लिए उन्होंने राष्ट्रपति महात्मा गांधी का उदाहरण देते हुए बताया कि गांधी जी जब छोटे थे तो वे डरते थे, तब उनकी मां ने बताया कि तुम राम का नाम लो.

मोदी ने बच्चों से विभिन्न विषयों पर बात की और उन्हें खेल की आवश्यकता के बारे में भी बताया. उन्होंने बच्चों से कहा कि खेल भी बहुत जरूरी है. जिंदगी में विभिन्न क्षमताओं को आत्मसात करना महत्वपूर्ण है, क्योंकि वे हमेशा काम आती हैं.

अपने बीच प्रधानमंत्री को पाकर खुश नजर आ रहे बच्चों ने कहा कि मोदी 'काका' ने उनसे कहा है कि 'खेलोगे तो खिलोगे'. प्रधानमंत्री ने उन्हें मेहनत करके आगे बढ़ने की नसीहत दी और कहा कि जिंदगी में आने वाले परेशानियों से कभी ना घबराएं.

पीएम मोदी स्कूल की लाइब्रेरी में भी  गए. बच्चों ने बताया कि पीएम मोदी ने उन्हें पढ़ने और खेलने की सीख दी. पीएम मोदी ने बच्चों को ग्रीटिंग कार्ड्स दिए. जिसके बाद बच्चों ने बतौर रिटर्न गिफ्ट स्टेशनरी का सामान, बैग और सोलर लैंप भी दिए.

इसके पहले वाराणसी पहुंचने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने हवाई अड्डे पर प्रधानमंत्री की अगवानी की. इसके अलावा आंगनवाड़ी तथा आशा कार्यकर्ताओं ने भी केन्द्र द्वारा हाल में घोषित कई लाभकारी योजनाओं का धन्यवाद देते हुए मोदी का स्वागत किया.

प्रधानमंत्री ने बाद में डीजल रेल कारखाना (डिरेका) परिसर में काशी विद्यापीठ के विद्यार्थियों से भी मुलाकात की. मोदी कल काशी हिन्दू विश्वविद्यालय एम्फीथियेटर में 557 करोड़ रुपये की विकास योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करेंगे. इनमें पुरानी काशी के लिये एकीकृत ऊर्जा विकास योजना तथा काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में अटल इन्क्यूबेशन सेंटर की परियोजना प्रमुख हैं.

Source: मनोरंजन

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*