करनाल में मुख्यमंत्री मनोहर का बायकॉट, सीएम मांगें माफी: सिख समुदाय

करनाल
शुक्रवार को करनाल के गांव डाचर में सीएम मनोहर लाल खट्टर के नहीं पहुंचने पर सिख समुदाय में रोष व्याप्त है। इसी रोष के चलते डाचर गांव के सिख समुदाय के लिए लोगों ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और भारतीय जनता पार्टी का बायकॉट करने का फैसला किया। वहीं, अब वे सीएम मनोहर से माफी मंगवाना चाहते हैं। समुदाय ने सरकार को 6 अक्टूबर तक का अल्टीमेटम दिया है। इस दौरान सीएम विरोधी नारे लगाए गए और खालिस्तान जिंदाबाद के नारों की गूंज उठती रही।

 
सिख समुदाय के लोगों को कहना है कि करनाल में बीजेपी सरकार के मंत्री, विधायक और मुख्यमंत्री मनोहर लाल का बायकॉट किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा के किसी भी मंत्री, नेता को करनाल में नहीं घुसने दिया जाएगा, जब तक मुख्यमंत्री मनोहर गांव डाचर के गुरद्वारे में वापस आकर लोगों से माफी नहीं मांग लेते।
  

उनका कहना है कि मुख्यमंत्री ने सिख संगतों और लंगर का अनादर किया है। उन्होंने कहा कि गुरुद्वारे में भिंडरावाले की फोटो पर मुख्यमंत्री की छोटी सोच है। भिंडरावाला हमारी कौम के शहीद हैं। सिख समुदाय का कहना है कि सीएम मनोहर लाल 6 अक्टूबर तक माफी मांगें। अगर ऐसा नहीं हुआ तो गुरुद्वारा डाचर में एक बैठक की जाएगी, जिसमें हरियाणा की सिख जत्थेबंदियां मौजूद रहेंगी और बड़ा फैसला लेंगी।

गौरतलब है कि सीएम का एक कार्यक्रम डाचर गांव के गुरुद्वारे में भी था और गुरद्वारे में ही मुख्यमंत्री ने लंगर छकना था। लेकिन मौके पर कार्यक्रम रद्द हो गया और मुख्यमंत्री आगे चले गए। जिसको लेकर सभी सिख श्रद्धालुओं में रोष बना हुआ है, क्योंकि वह पिछले कई दिनों से इसकी तैयारिया कर रहे थे। जिसके बाद गुस्साये  लोगों ने एक दो गाडी में तोडफ़ोड़ की, जिसकी विडीयो सोशल मिडिया पर वायरल हो रही है।

वहीं वही रोष स्वरूप करनाल के डेरे कार सेवा गुरद्वारे में आज सिख श्रदालु और सिख संगत जथे बंदियों ने एक बैठक की। जिसमें एक बड़ा फैसला लिया गया कि जब तक मुख्यमंत्री वापस गुरुद्वारे में आकर संगत से माफ़ी नहीं मांगते और माथा नहीं टेकते तब तक बीजेपी सरकार के नेता व मुख्यमंत्री का बायकाट रहेगा।

Source: खेल

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*