मनोहर पर्र‍िकर की सेहत में सुधार, BJP ने इस्तीफे की खबर को बताया अफवाह

गोवा 
गोवा में भारतीय जनता पार्टी के लिए संकट गहराने की खबरों के बीच गोवा भाजपा अध्यक्ष ने सोमवार को बयान जारी कर इसे महज अफवाह करार दिया है. साथ ही उन्होंने सीएम पर्र‍िकर की सेहत में सुधार की बात कही है. गोवा भाजपा अध्यक्ष विजय तेंदुलकर ने कहा कि सीएम पर्र‍िकर की हालत बेहतर है और उनके सीएम पद से इस्तीफे देने की फैलाई जा ही अफवाह पूरी तरह से गलत है. गठबंधन की सरकार पांच साल के लिए बनाई गई है और सीएम पर्र‍िकर इस कार्यकाल को पूरा करेंगे.बता दें कि पर्रिकर मध्य फरवरी से ही बीमार चल रहे हैं और उनका गोवा,  मुंबई और अमेरिका समेत विभिन्न जगहों के अस्पतालों में इलाज हुआ है.

पर्रिकर दो दिन बाद अफसरों- पार्टी पदाधिकारियों से मिलेंगे
एजेंसी के मुताबिक, गोवा भाजपा के अध्यक्ष ने कहा कि सीएम पर्रिकर दो दिन आराम करेंगे और इसके बाद पार्टी के पदाधिकारियों और सरकारी अफसरों से मुलाकात करेंगे. सोमवार दोपहर को भाजपा विधायक दल की बैठक में भाग लेने के बाद तेंदुलकर ने पत्रकारों से कहा कि गोवा के नेतृत्व में बदलाव नहीं होगा. तेंदुलकर ने प्रदेश पार्टी महासचिव सदानंद तनावडे के साथ आज पर्रिकर से उनके आवास पर मुलाकात भी की. पर्रिकर के निजी सचिव रुपेश कामत द्वारा जारी बयान में सीएम पर्रिकर की हालत में सुधार की पुष्टि करते हुए बताया कि आज सुबह उन्होंने अपने परिवार के सदस्यों से बातचीत की. डॉक्टरों ने उन्हें एक हफ्ते तक आराम करने की सलाह दी है.

बीजेपी के साथ कुल 22 विधायकों का समर्थन
गोवा में 40 सदस्यीय विधानसभा में पर्रिकर की अगुवाई वाली सरकार को 23 विधायकों का समर्थन प्राप्त है. उनमें भाजपा के 14, गोवा फारवार्ड पार्टी तथा महाराष्ट्र गोमांतक पार्टी के तीन-तीन विधायक और तीन निर्दलीय विधायक हैं. विपक्षी कांग्रेस 16 विधायकों के साथ विधानसभा में सबसे बड़ा दल है. यानी अब गोवा फॉरवार्ड पार्टी के पास दो ही विधायक बचे हैं, ऐसे में बीजेपी के साथ कुल 22 विधायकों का समर्थन बचा है.

कमेटी संभाल रही है राज्य की कमान
पर्रिकर ने यह सुनिश्चित करने के लिए शुक्रवार को पार्टी की गोवा इकाई की कोर समिति के सदस्यों और गठबंधन के सहयोगी दलों के मंत्रियों के साथ एम्स में बैठक की थी कि खराब स्वास्थ्य के कारण उनकी अनुपस्थिति के दौरान सरकार सामान्य रुप से चलती रहे. पर्रिकर से अलग-अलग भेंट करने वाले सत्तारुढ़ भाजपा और उसके सहयोगी दलों के नेताओं ने इस तटीय राज्य में नेतृत्व परिवर्तन से इनकार किया था. कोर समिति गोवा में पार्टी की अहम निर्णायक समिति है जिसमें पर्रिकर, नाईक, प्रदेश अध्यक्ष विनय तेंदुलकर आदि हैं. BJP की कोर कमेटी सोमवार को ही राज्य के राजनीतिक हालातों पर मंथन करेगी.

नाराज सहयोगी ने दिया पार्टी से इस्तीफा
गोवा फॉरवर्ड के उपाध्यक्ष ट्राजनो डिमेलो ने राज्य में मछली माफिया का खुला समर्थन करने के लिए भाजपा नेतृत्व वाली सरकार पर आरोप लगाते हुए पार्टी से इस्तीफा दे दिया. डिमेलो ने यह कहते हुए रविवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया कि सरकार मछली माफियाओं का समर्थन कर रही है, जो मछलियों को संरक्षित करने के लिए फॉर्मलिन का इस्तेमाल करते हैं और राज्य में उन मछलियों को बेचते हैं.


Source: खेल

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*