शत्रुओं पर विजय पाने नेता पहुंचे मां बगलामुखी के दरबार में, तंत्र-मंत्र और अनुष्ठान

अगर-मालवा
वैसे लोकतंत्र में जनता ही जनार्दन होती है. लेकिन टिकट के लिए तो आसमां के भगवान की परमिट चाहिए. चुनाव के इस मौसम में नवरात्रि के दौरान तमाम नेता तंत्र-मंत्र और पूजा पाठ में लगे रहे. सब आगर-मालवा पहुंचे और मां बगलामुखी को प्रसन्न करने की कोशिश की. टिकट मिलने से लेकर जीत तक के लिए तंत्र मंत्र और हवन कराए गए.

चुनावी मौसम में पड़ी इस नवरात्रि में नेताओं ने हर आहूति सत्ता और टिकट हासिल करने के लिए डाली. तरीके भले ही अलग-अलग हों लेकिन मनोकामना सबकी एक थी. किसी ने आरती की तो किसी ने तंत्र-मंत्र, पूजा, अनुष्ठान किया. किसी ने गरबा कर मतदाताओं की ताल से ताल मिलायी. कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने आगर-मालवा में तांत्रिक अनुष्ठान कराया. बीजेपी की ओर से मंत्री अर्चना चिटणीस, पूर्व मंत्री रंजना बघेल, कृष्णा गौर, अभिलाष पाण्डे, कांग्रेस के पूर्व सांसद लक्ष्मण सिंह भी माता के दरबार में आए.

तंत्र साधना के लिए पूरे देश में विख्यात माता के इस मंदिर में, के बारे में मान्यता है कि इस मंदिर में हवन पूजन से शत्रुओं पर विजय मिलती है. मां बगलामुखी के दरबार में खांतेगांव विधायक गणपत पटेल भी पहुंचे.

सियासी दलों और नेताओं के बीच आगर मालवा की ये सिद्धपीठ खासी पॉपुलर है. इस बार तो मौका भी है और दस्तूर भी, के अंदाज में मां की देहरी पर नेताओँ का पहुंचना लाजिमी है.


Source: खेल

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*